वीवो वी5 का रिव्यू

 
वीवो वी5 का रिव्यू
अगर आपको लगता है कि सेल्फी की दीवानगी कम हो गई है तो एक बार फिर सोच लें। मिड रेंज स्मार्टफोन सेगमेंट में ज़ंग जारी है और वीवो ने वीवो वी5 के रूप में नया योद्धा उतारा है। मार्केट को देखा जाए तो इस फोन की भिड़ंत जियोनी एस6एस (रिव्यू) और ओप्पो एफ1एस (रिव्यू) से होगी।

वीवो वी5, चीनी कंपनी की वी-सीरीज का लेटेस्ट फोन है। इससे पहले वीवो वी3 (रिव्यू) और वीवो वी3 मैक्स (रिव्यू) को लॉन्च किया गया था। वी3 और वी3 मैक्स को परफॉर्मेंस और बैटरी लाइफ के लिहाज से अच्छा माना जा सकता है। लेकिन कैमरे, अटपटे यूज़र इंटरफेस और कीमत ने निराश किया था। अब देखना होगा कि वीवो वी5 के जरिए वीवो ने इस विभाग में सुधार किया है या नहीं।


वीवो वी5 डिज़ाइन और बिल्ड
वीवो वी5 का डिज़ाइन मार्केट के कई लोकप्रिय फोन का मिश्रण नज़र आता है। फोन के पिछले हिस्से पर आईफोन 6 का प्रभाव साफ दिखता है। और फ्रंट पैनल पर देखने पर वनप्लस 3 या किसी ओप्पो फोन की याद आएगी। यह सबकुछ वीवो वी5 के पक्ष में जाता है। हम इससे निराश नहीं हुए। बिल्ड क्वालिटी अच्छी है। डिस्प्ले पर कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास की प्रोटेक्शन मौजूद है। हमें यह भी पसंद आया कि फोन स्लिम होने के साथ हल्का भी है। वज़न सिर्फ 154 ग्राम है। अगर असली मेटल का इस्तेमाल होता तो हमें ज्यादा पसंद आता।

5.5 इंच का आईपीएस डिस्प्ले ब्राइट तो है ही। इसका कलर सेचुरेशन भी अच्छा है। इस वजह से यह एमोलेड पैनल जैसा लगता है। स्क्रीन का रिज़ॉल्यून एचडी है लेकिन इसका असर परफॉर्मेंस पर नहीं पड़ता। टेक्स्ट बेहद ही शार्प दिखे। वीवो वी5 कैपेसिटिव नेविगेशन बटन के साथ आता है। और होम बटन में फिंगरप्रिंट सेंसर इंटिग्रेटेड है। सेंसर बेहद ही तेजी से काम करता है। लगभग हर बार सटीक काम किया। आप इससे फोन अनलॉक करने के अलावा ऐप भी लॉक कर सकते हैं।
 
Vivo V5

वीवो वी5 के डिज़ाइन में बहुत सामंजस्य है। स्लिम होने के बावजूद इसकी ग्रिप अच्छी है। फोन का निचला हिस्सा भरा-भरा सा है। हेडफोन सॉकेट, माइक्रो-यूएसबी पोर्ट और स्पीकर ग्रिल को यहां जगह मिली है। बैकपैनल को मैटे फिनिश दिया गया है। हालांकि, रिव्यू के दौरान हमने पाया कि फिंगरप्रिंट या अन्य दाग बेहद ही आसानी से लग गए। बायीं तरफ डुअल-सिम ट्रे है। इसके दूसरे स्लॉट में 128 जीबी तक का माइक्रोएसडी कार्ड इस्तेमाल करना भी संभव है। बॉक्स में आपको 10 वॉट का चार्जर भी मिलेगा जो हमें ज़रूरत से ज़्यादा बड़ा लगा। इसके साथ एक डेटा केबल, सिलिकॉन केस, हेडसेट और सिम इजेक्टर टूल मिलेगा।

वीवो वी5 स्पेसिफिकेशन और फ़ीचर
वीवो वी5 में ऑक्टा-कोर मीडियाटेक एमटी6750 चिपसेट का इस्तेमाल किया गया है। ओप्पो एफ1एस भी इसी चिपसेट के साथ आता है। आपको 4 जीबी रैम और 32 जीबी स्टोरेज मिलेगी। यह बेहतरीन एंड्रॉयड अनुभव के लिए काफी है। हमें इसकी परफॉर्मेंस से कोई शिकायत नहीं है। बेंचमार्क टेस्ट की बात करें तो अंतूतू में इसे 40,916 और जीएफएक्सबेंच में 21 एफपीएस का स्कोर मिला।

वीवो वी5 के अन्य फ़ीचर में वाई-फाई 802.11 बी/जी/एन, ब्लूटूथ 4.0, यूएसबी ओटीजी, जीपीएस और एफएम रेडियो शामिल हैं। वीवो वी5 कंपनी के फनटच ओएस 2.6 के साथ आता है जो एंड्रॉयड मार्शमैलो पर आधारित है। अन्य फ़ीचर में नाउ ऑन टैप और बैटरी ऑप्टिमाइज़ेशन भी हैं। वीवो के यूआई कस्टमाइज़ेशन के कारण यह बता पाना आसान नहीं है कि इसमें एंड्रॉयड का कौन सा वर्ज़न है। वीवो वी5 के सॉफ्टवेयर का लुक और काम करने का अंदाज वैसा ही है जो हमें वी-सीरीज के अन्य फोन में देखने को मिला है।
 
Vivo_V5_apps_ndtv

पहली बार वीवो के फोन इस्तेमाल करने वाले लोग आईओएस जैसे लुक से थोड़ा असमंजस में पड़ सकते हैं। रीसेंट ऐप्स स्क्रीन और टॉगल स्वीच को बॉटम से ऊपर की तरफ स्वाइप करने पर एक्सेस करना संभव है। बायीं तरफ दिए गए कैपिसिटिव बटन को थोड़ी देर दबाने पर होमस्क्रीन कस्टमाइज़ेशन मेन्यू सामने आ जाता है। मुश्किल यह है कि मेन्यू बहुत छोटा है। ऐसे में कुछ ऐप के विजेट को खोज पाना आसान नहीं। ड्रॉप डाउन शेड को सिर्फ नोटिफिकेशन के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। वीवो वी5 के अन्य फ़ीचर वीवो वी3 वाले हैं जिनका ज़िक्र हमने रिव्यू में किया था। इसमें लोकस्क्रीन पर नोटिफिकेशन देख पाना और स्प्लिट स्क्रीन शामिल हैं।

वीवो वी5 परफॉर्मेंस
आप जैसे ही वीवो के एंड्रॉयड अवतार से रूबरू हो जाएंगे। इस फोन को इस्तेमाल करने में दिक्कत नहीं होगी। हमने इस फोन को कुछ दिनों तक इस्तेमाल किया और इसकी आम परफॉर्मेंस से खुश हैं। वीवो वी5 में ऐप लोड होने में ज़्यादा वक्त नहीं लगता। मल्टी-टास्किंग के दौरान पर भी परफॉर्मेंस कमज़ोर नहीं होती। आप गेम भी खेल सकेंगे। हालांकि, हाई-एंड गेम खेलने के दौरान आपको सेटिंग्स में कुछ बदलाव करना होगा। एक बात हमें बेहद ही पसंद आई। फोन कभी भी गर्म नहीं होता। बेंचमार्किंग के दौरान भी यह फोन थोड़ा ही गर्म हुआ। कॉल क्वालिटी अच्छी थी और 4जी नेटवर्क ने ठीक काम किया। वीवो वी5 में वॉयस ओवर एलटीई के लिए सपोर्ट मौजूद है।
 
Vivo_V5

वीवो के अन्य फोन के तरह ऑडियो क्वालिटी पर कंपनी ने ज़ोरदार काम करता है। वीवो वी5 में एके4376 ऑडियो चिप दिया गया है जिसे कंपनी द्वारा ही बनाया गया है। आप इसे सेटिंग्स ऐप में जाकर हाई-फाई ऑप्शन से एक्टिव कर सकते हैं। यह हेडफोन प्लग इन करने पर काम करने लगता है। डिफ़ॉल्ट म्यूज़िक और वीडियो प्लेयर के अलावा एमएक्स प्लेयर, यूट्यूब और गूगल प्ले म्यूज़िक जैसे थर्ड ऐप इस फ़ीचर का फायदा उठा सकेंगे।

वीवो वी5 की सबसे अहम खासियत 20 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा है जिसमें सोनी आईएमएक्स376 सेंसर का इस्तेमाल किया गया है। यह एफ/2.0 अपर्चर और फिक्स्ड फोकस लेंस से लैस है। यह फुल-एचडी वीडियो रिकॉर्डिंग को सपोर्ट करता है और इसमें फेस ब्यूटी शूटिंग मोड भी है। दिन की रोशनी में फ्रंट कैमरा ढेर सारे डिटेल और बेहद ही अच्छे कलर रिप्रोडक्शन वाली तस्वीरें लेता है। हालांकि, कृत्रिम रोशनी में इंडोर शॉट थोड़े ग्रेनी थे। क्वालिटी की कमी साफ नज़र आती है। शटर लैग भी करता है। इस कारण से चलायमान चीज़ों की तस्वीरें लेने में दिक्कत होगी।

वीवो वी5 में कंपनी ने मूनलाइट फ्लैश दिया है जो आपके चेहरे को ज्यादा रोशनी देने का काम करता है। अगर आप फोन को थोड़ी दूर रखकर सेल्फी ले रहे हैं तो यह बेहद ही पावरफुल नहीं है। हालांकि, यह आम एलईडी फ्लैश और स्क्रीन फ्लैश से बेहतर काम करता है। कम रोशनी में सेल्फी कैमरे की परफॉर्मेंस कभी अच्छी थी और कभी खराब। आप अपनी सेल्फी को वन-टैप मेकओवर फ़ीचर के जरिए बेहतर बना सकेंगे।

 

वीवो वी5 के कैमरा सैंपल देखने के लिए क्लिक करें

वीवो वी5 के प्राइमरी कैमरे को इस्तेमाल करने पर हमें लगा कि कंपनी ने इस पर सेल्फी कैमरे जितना ध्यान नहीं दिया है। इस कैमरे से बेहद ही औसत तस्वीरें आईं। दिन की रोशनी में लैंडस्केप तस्वीरों में डिटेल की कमी थी। मैक्रो शॉट शार्प नहीं नज़र आते। कलर रिप्रोडक्शन तो ठीक-ठाक है। कम रोशनी में ली गई तस्वीरें तो औसत से खराब हैं। इसमें कलर नॉय्ज़ है और डिटेल की भारी कमी है।

आप 1080 पिक्सल के वीडियो रिकॉर्ड कर पाएंगे। इसकी क्वालिटी अच्छी थी। शूटिंग मोड में पनोरमा, एचडीआर, नाइट, प्रोफेशन, पीपीटी, स्लो-मोशन और हाइपर लैप्स शामिल हैं। आईओएस का प्रभाव कैमरा ऐप में दिखता है। दरअसल में सिरी का पुराना लोगो इस ऐप मे शटर बटन बन गया है।

वीवो वी5 में 3000 एमएएच की बैटरी है जो हमारे वीडियो टेस्ट में 11 घंटे 41 मिनट तक चली। आम इस्तेमाल में हम इसे आसानी से एक दिन से ज्यादा वक्त तक इस्तेमाल कर सके। फोन की बैटरी का स्टैंडबाय बेहतरीन है। अगर आप एक्टिव यूज़र नहीं है तो यह 2 दिन तक चल जाएगी। फास्ट चार्ज़िंग का सपोर्ट नहीं मिलेगा। लेकिन 10 वॉट का चार्जर बैटरी को एक घंटे में 25 प्रतिशत चार्ज कर देता है। यह हमारी उम्मीद से धीमा है।

हमारा फैसला
इसमें कोई दोमत नहीं कि वीवो वी5 कंपनी की वी-सीरीज़ के पुराने फोन से बेहतर है। लेकिन यह अपने प्रतिद्वंद्वियों को चारों खाने चित नहीं करता। इस फोन का सबसे अहम फ़ीचर 20 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा है जो आकर्षित तो करता है, लेकिन यह कहीं से भी क्रांतिकारी नहीं है। सेल्फी कैमरे के लिए इतना ज़्यादा मेगापिक्सल सार्थक नज़र नहीं आता, अगर आप अपनी सेल्फी का ए4 साइज़ पेपर में प्रिंट आउट ना लेना चाहते हों।

वीवो वी5 में कुछ ख़ासियतें भी हैं, जैसे कि डिस्प्ले, बैटरी लाइफ और खूबसूरत एंड्रॉयड परफॉर्मेंस। हालांकि, 17,980 रुपये में आपके लिए ओप्पो एफ1एस (रिव्यू) ज़्यादा बेहतर विकल्प है। क्योंकि, इसकी बिल्ड क्वालिटी अच्छी है और कैमरे भी बेहतरीन हैं। जियोनी एस6एस भी एक अच्छा विकल्प है, अगर आपके पास खर्चने के लिए थोड़े कम पैसे हैं। अगर आप इंतज़ार करने को तैयार हैं तो ओप्पो एफ1एस के 4 जीबी रैम और 64 जीबी स्टोरेज वाले वेरिएंट को 1,000 रुपये ज़्यादा खर्चकर दिसंबर में खरीद पाएंगे।

 
  • डिज़ाइन
  • डिस्प्ले
  • सॉफ्टवेयर
  • परफॉर्मेंस
  • बैटरी लाइफ
  • कैमरा
  • वैल्यू फॉर मनी

डिस्प्ले

5.50 इंच

बैटरी क्षमता

3000 एमएएच

प्रोसेसर

1.5 गीगाहर्ट्ज़ ऑक्टा-कोर

फ्रंट कैमरा

20 मेगापिक्सल

रिज़ॉल्यूशन

720x1280 पिक्सल

रैम

4 जीबी

ओएस

एंड्रॉ़यड 6.0.1

स्टोरेज

32 जीबी

रियर कैमरा

13 मेगापिक्सल
रॉयडन सरेजो रॉयडन सरेजो ज़ुबान से फिट होने का शौक रखते हैं। टेक की दुनिया का सब कुछ पसंद है। और कंप्यूटर पार्ट्स की जमखोरी की आदत से धीरे-धीरे ... और भी »

संबंधित ख़बरें

 
 
 
Gionee A1
लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।