Samsung Galaxy On Max का रिव्यू

 
Samsung Galaxy On Max का रिव्यू

ख़ास बातें

  • Samsung Galaxy On Max फ्लिपकार्ट पर 16,900 रुपये में उपलब्ध है
  • इसकी परफॉर्मेंस से आप निराश नहीं होंगे
  • डिस्प्ले बड़ा है जो मीडिया इंटरटेनमेंट के लिए अच्छा है
आज की तारीख में स्मार्टफोन खरीदने से पहले अच्छा कैमरा आम मांग होती है। हमारे पाठक भी अकसर ही यही सवाल पूछते हैं कि कौन से स्मार्टफोन में सबसे बेहतर कैमरा है। और सवाल किसी खास प्राइस रेंज तक सीमित नहीं रहती। 20,000 रुपये से कम के मोटो जी5 प्लस (रिव्यू), शाओमी मी मैक्स 2 और ओप्पो एफ3  दिन की रोशनी में तो बेहतरीन तस्वीरें ले सकते हैं, लेकिन कम रोशनी में तस्वीरों की क्वालिटी कम हो जाती है। सैमसंग का दावा है कि उसने गैलेक्सी ऑन मैक्स के ज़रिए इस आम समस्या का हल ढूंढ निकाला है।

स्मार्टफोन को पिछले महीने भारत में लॉन्च किया गया था। यह सैमसंग पे मिनी को सपोर्ट करता है। कुछ अन्य अहम खासियतों में एफ/1.7 अपर्चर और एंड्रॉयड नूगा शामिल हैं। Samsung Galaxy On Max की कीमत ऐसी रखी गई है कि इसकी भिड़ंत 20,000 रुपये प्राइस सेगमेंट वाले कई लोकप्रिय हैंडसेट से है। क्या सैमसंग वाकई में मजबूत चुनौती देने में सक्षम है? आइए जानने की कोशिश करते हैं।
 

Samsung Galaxy On Max डिज़ाइन

लंबे वक्त से Samsung के फोन की हर प्राइस सेगमेंट में एक जैसे ही डिज़ाइन को लेकर आलोचना होती रही है। ऐसा लगता है कि कंपनी ने इस पर गौर करते हुए बदलाव की शुरुआत अपने प्रीमियम मॉडल सैमसंग गैलेक्सी एस6 से की। इसके बाद सैमसंग गैलेक्सी एस7 आया और Samsung Galaxy S8 को देखकर लगता है कि कंपनी ने क्रांतिकारी बदलाव किए हैं। अच्छी बात यह है कि कंपनी मिड रेंज सेगमेंट को भूली नहीं है। इस प्राइस रेंज में भी कुछ बदलाव देखने को मिले हैं।


गैलेक्सी ऑन मैक्स अपनी कीमत से ज़्यादा प्रीमियम नज़र आता है। पहली नज़र में यह आपको ज़रूर भाएगा। इस हैंडसेट में 5.7 इंच का डिस्प्ले है लेकिन यह 5.5 इंच वाला डिवाइस होने का एहसास देता है और 5.5 इंच वाले आईफोन 7 प्लस की तुलना में छोटा लगता है। किनारे पर स्लिम बॉर्डर के कारण डिस्प्ले की खूबसूरती निखर कर आती है। फ्रंट पैनल पर सैमसंग की पहचान बन चुका अंडाकार होम बटन है जो फिंगरप्रिंट सेंसर भी है। इसके दोनों तरफ कैपसिटिव बैक और ओवरव्यू बटन दिए गए हैं।

अफसोस कि कैपसिटिव बटन बैकलिट नहीं हैं। इसका मतलब है कि आपको अंधेरे में इन्हें इस्तेमाल करने में दिक्कत होगी। पावर और वॉल्यूम बटन की पोजीशन ऐसी है कि उन्हें इस्तेमाल में लाना आसान है। आपको सिम और माइक्रोएसडी कार्ड के लिए अलग-अलग स्लॉट मिलेंगे। पिछले हिस्से पर कैमरा एक वर्गाकार उभार के साथ मौज़ूद है जो सैमसंग के फोन में आम है। 3.5 एमएम का ऑ़डियो जैक टॉप पर है और माइक्रो-यूएसबी पोर्ट निचले हिस्से पर।

ऑन मैक्स की मोटाई 8.1 मिलीमीटर की है, लेकिन अपने साइज़ के हिसाब से स्लिम लगता है। वजन 179 ग्राम है। फोन कॉल के दौरान आपको इसके वज़नदार होने का एहसास होगा। इसके अलावा आप डिवाइस को लंबे वक्त तक एक हाथ से इस्तेमाल नहीं करना चाहेंगे। घुमावदार किनारों के कारण इसे एक हाथ से इस्तेमाल करने में सहूलियत होती है, लेकिन मेटल ज़्यादा फिसलता है। रिव्यू के दौरान तस्वीर लेते वक्त गैलेक्सी ऑन मैक्स एक बार हमारे हाथों से लगभग फिसल ही गया था और इसकी वजह थी मैटालिक बैक। हमारा सुझाव होगा कि आप प्रोटेक्शन के लिए कवर का इस्तेमाल करें।

सैमसंग ने गैलेक्सी ऑन मैक्स की छोटी-छोटी बारीकियों पर ध्यान दिया है, यह बात हमें पसंद आई। कई लोग को यह फोन बहुत बड़ा लग सकता है। मेटल यूनीबॉडी के कारण यह हाथों में फिसलता है। एक नोटिफिकेशन एलईडी भी होना चाहिए था जिसे जगह नहीं मिली है। इसके अलावा डिस्प्ले पर बेहद ही आसानी से ऊंगलियों के निशान छप जाते हैं। हमें स्क्रीन को बार-बार साफ करना पड़ा। कुल मिलाकर, Samsung Galaxy On Max में भले ही अनोखा डिज़ाइन ना हो, लेकिन यह अपनी कीमत से ज़्यादा प्रीमियम होने का एहसास देता है। हैंडसेट को गोल्ड और ब्लैक रंग में लॉन्च किया गया है। हमें रिव्यू के लिए काले रंग वाला वेरिएंट मिला था।

सैमसंग गैलेक्स ऑन मैक्स के रिटेल बॉक्स के अंदर आपको ईयरफोन, चार्जर, माइक्रो-यूएसबी केबल, सिम इजेक्टर टूल और निर्देश पुस्तिका मिलेगी।
 

Samsung Galaxy On Max स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेयर

सैमसंग गैलेक्सी ऑन मैक्स में 5.7 इंच का फुल-एचडी (1080x1920 पिक्सल) स्क्रीन है। इसमें ऑक्टा-कोर मीडियाटेक हीलियो पी25 प्रोसेसर का इस्तेमाल हुआ है। साथ में मौज़ूद हैं 4 जीबी रैम। इनबिल्ट स्टोरेज 32 जीबी है और आप 256 जीबी तक के माइक्रोएसडी कार्ड को भी इस्तेमाल कर सकेंगे।

कंपनी ने गैलेक्सी ऑन मैक्स की कैमरा परफॉर्मेंस को लेकर बड़े-बड़े दावे किए हैं। यह फोन फ्रंट और रियर पैनल पर 13 मेगापिक्सल के सेंसर के साथ आता है। दोनों ही तरफ एलईडी फ्लैश भी हैं। कंपनी का कहना है कि रियर हिस्से पर मौजूद सेंसर का अपर्चर एफ/1.7 है और इस वजह से कम रोशनी में फोटोग्राफी बेहतरीन होगी। फ्रंट पैनल पर एफ/1.9 अपर्चर वाला सेंसर मिलेगा। कनेक्टिविटी के लिए सैमसंग गैलेक्सी ऑन मैक्स में 4जी वीओएलटीई, वाई-फाई, ब्लूटूथ, 3.5 एमएम ऑडियो जैक और  माइक्रो-यूएसबी पोर्ट दिए गए हैं। बैटरी 3300 एमएएच की है।

आपको एंड्रॉयड 7.0 नूगा मिलेगा। इसके ऊपर सैमसंग के कस्टम ओएस यूएक्स का इस्तेमाल हुआ है जो बीते साल की तुलना में बेहतर हुआ है। सैमसंग फोन में अब अनचाहे ऐप की संख्या भी कम हो गई है।

इस फोन में एक अहम सॉफ्टवेयर फीचर सैमसंग पे मिनी है जिसे भारत में जून में Samsung Galaxy J7 Pro और Galaxy J7 Max के साथ लॉन्च किया गया था। सैमसंग पे मिनी ऐप पहले से डिवाइस पर इंस्टॉल रहेगा। इसकी मदद से आप यूपीआई पेमेंट्स कर पाएंगे और इसमें मोबाइल वॉलेट भी इंटिग्रेटेड है। अफसोस कि आपको सैमसंग पे के मिनी वर्ज़न में एनएफसी और टैप टू पे फीचर नहीं मिलेगा। हमने सैमसंग पे मिनी पर पेटीएम और मोबिक्विक वॉलेट को इस्तेमाल किया और पाया कि यह काम करता है। लेकिन हमें कार्ड पेमेंट्स की कमी खटकी। काश! हम भी डेबिट और क्रेडिट कार्ड को घर पर छोड़कर आ सकते।

उम्मीद के मुताबिक, गैलेक्सी ऑन मैक्स में नूगा वाले स्पिल्ट स्क्रीन मल्टीटास्किंग, क्विक टॉगल्स और नया सेटिंग्स ऐप जैसे सारे फीचर मौज़ूद हैं। हमें 3डी टच जैसी तकनीक पसंद आई। इसकी मदद से चुनिंदा ऐप के आइकन को लंबे समय तक दबाने पर शॉर्टकट के रूप में कई विकल्प आते हैं।

जिन यूज़र को लगता है कि 5.7 इंच का स्क्रीन बहुत बड़ा है। वे वन-हैंडेड मोड का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे डिस्प्ले का क्षेत्र घट जाएगा। आपको यह मोड सेटिंग्स ऐप से एक्टिव करना होगा। आपको डुअल मैसेंजर फीचर मिलेगा जो अपने आप ही व्हाट्सऐप, फेसबुक, टेलीग्राम, इंस्टाग्राम और जीमेल जैसे ऐप के साथ एक्टिव हो जाएगा। इसकी मदद से यूज़र एक ही डिवाइस पर दो अकाउंट को एक साथ इस्तेमाल कर सकेंगे। सिक्योर फोल्डर को भी गैलेक्सी ऑन मैक्स में जगह मिली है। सिक्योर फोल्डर में आप फोटोज, नोट्स और ऐप्स को सुरक्षित रख पाएंगे।

आपको कुछ और शॉर्टकट भी मिलेंगे। होम बटन को दो बार टैप करके कैमरे को किसी भी वक्त एक्टिव किया जा सकता है। अल्ट्रा डेटा सेविंग मोड बैकग्राउंड में डेटा इस्तेमाल करने वाले ऐप पर रोक लगाता है। सैमसंग ने फेस रिकॉग्निशन को भी जगह दिया है। इस प्राइस रेंज का यह पहला डिवाइस है जो इस फीचर के साथ आता है। हमारे यूनिट ने पहले गूगल असिस्टेंट को नहीं सपोर्ट किया। लेकिन एक अपडेट के बाद फोन में यह फीचर भी आ गया।
 

Samsung Galaxy On Max परफॉर्मेंस और कैमरा

दैनिक इस्तेमाल में गैलेक्सी ऑन मैक्स अच्छा काम करता है। यह मल्टीटास्किंग को आसानी से हैंडल करता है। एक ऐप से दूसरे ऐप पर स्विच करने में दिक्कत नहीं होती। हर वक्त आपको 4 जीबी में 1.8 जीबी रैम फ्री ही मिलेंगे। हमने गैलेक्सी ऑन मैक्स को जीपीएस नेविगेशन, फोटोग्राफी, गेमिंग के लिए जमकर इस्तेमाल किया। इस दौरान 4जी डेटा भी एक्टिव था। लेकिन फोन कभी भी बहुत ज़्यादा गर्म नहीं हुआ।

फोन सिर्फ असफाल्ट 8 जैसे पावरफुल ग्राफिक्स वाले गेम के सामने डगमगाता है। हमें लगा कि फोन कभी-कभार स्थिर हो जाता था। लेकिन थोड़ी देर में रिकवर करने में कामयाब रहा। बेंचमार्क नतीजे भी ठीक-ठाक ही आए।

गैलेक्सी ऑन मैक्स के फुल-एचडी स्क्रीन को इस्तेमाल करने का अनुभव शानदार था। इसकी ब्राइटनेस अच्छी है और कलर्स पंची हैं। डिस्प्ले की खासियत यह है कि यह बहुत ब्राइट भी हो सकता है और बहुत डिम भी। हमें फोन के स्क्रीन पर वीडियो देखने में मज़ा आया। सैंपल वीडियो भी बिना परेशानी चले। दायीं तरफ मौज़ूद स्पीकर से पर्याप्त आवाज आती है। लेकिन सबसे ज़्यादा वॉल्यूम पर आवाज फटने लगती है। हमें स्पीकर की जगह पसंद आई, लेकिन स्टीरियो स्पीकर होते तो बेहतर था।

हमें फेस रिकॉग्निशन फीचर पसंद आया। हम इसकी मदद से डिवाइस को चेहरे की मदद से अनलॉक कर पा रहे थे। सैमसंग की तारीफ होनी चाहिए कि उसने इस कीमत में इस फीचर को हिस्सा बनाया है। हालांकि, यह उपयुक्त रोशनी होने पर ही काम करता है। कम रोशनी में इस फीचर के काम करने की उम्मीद नहीं कीजिए। इस परिस्थिति के लिए फेस रिकॉग्निशन का बेहतर विकल्प साबित होगा फिंगरप्रिंट स्कैनर।

फोन वीओएलटीई को सपोर्ट करता है। हम इसकी मदद से जियो नेटवर्क पर कॉल कर पा रहे थे। हमने पाया कि फोन ने उपलब्ध होने पर आसानी से 4जी नेटवर्क से कनेक्ट किया। फोन पर कॉल क्वालिटी अच्छी थी।

13 मेगापिक्सल का रियर कैमरा अलग-अलग परिस्थितियों में अच्छी परफॉर्मेंस देता है। दिन की रोशनी में सैंपल शॉट अच्छे टेक्सचर और पर्याप्त डिटेल के साथ आए। फोकस तेजी से हुआ और नतीजे भी सटीक थे। कलर्स बेहद ही विविध थे और एक्सपोज़र सटीक। मैक्रोस और लैंडस्केप में डिटेल की कमी नहीं नज़र आती।

रियर कैमरे के लेंस का अपर्चर एफ/1.7 है। यही सेटअप फ्लैगशिप गैलेक्सी एस7 और गैलेक्सी एस8 में देखने को मिला था। कंपनी का कहना है कि यूज़र इससे कम रोशनी में बेहतर तस्वीरें ले पाएंगे। कैमरा ने ठीक-ठाक नाइट शॉट लिए। कम रोशनी में ली गई तस्वीरों में कुछ नॉयज है, लेकिन यह इस प्राइस रेंज के अन्य फोन से बेहतर तस्वीरें लेता है। दिन की रोशनी में फोकस तेजी से काम करता है। कम रोशनी में यह उतना सटीक नहीं है।  

13 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरे से ली गई सेल्फी से आप संतुष्ट होंगे। कैमरा ऐप में आपको स्किन टोन बदलने, चेहरा पतला करने और आंखें बड़ी करने की सुविधा मिलेगी। यह फीचर कुछ यूज़र को पसंद आ सकता है। हमने पाया कि कम रोशनी में फ्रंट फ्लैश बेहद ही कारगर रहा। फोन से 1080 पिक्सल की वीडियो रिकॉर्ड कर पाएंगे। आप इससे निराश नहीं होंगे। वैसे, हमारी चाहत तो 4के वीडियो रिकॉर्डिंग की थी। लेकिन यह अभी फ्लैगशिप डिवाइस तक सीमित है। हमने दोनों ही कैमरों को कलर रिप्रोडक्शन और कम रोशनी में फोटोग्राफी को बेहतरीन पाया।

सैमसंग गैलेक्सी ऑन मैक्स के कैमरा ऐप को इस्तेमाल करना आसान है। स्मार्टफोन में एक सोशल कैमरा मोड भी है। इसकी मदद से आप तस्वीरों को चुटकियों में सोशल मीडिया साइट पर साझा कर सकते हैं। आप तस्वीर लेते वक्त भी रियल टाइम स्टीकर इस्तेमाल कर पाएंगे।
 

Samsung Galaxy On Max बैटरी लाइफ

सैमसंग गैलेक्सी ऑन मैक्स की 3300 एमएएच बैटरी बहुत ज़्यादा इस्तेमाल करने पर 16 घंटे तक चली। गैलेक्सी ऑन मैक्स में कई पावर सेविंग फीचर हैं Galaxy On Max में कई पावर सेविंग फीचर दिए गए हैं। इन विकल्प की मदद से हम हैंडसेट को एक दिन से ज़्यादा वक्त तक इस्तेमाल कर सके।

हमारे स्टेंडर्ड एचडी वीडियो लूप टेस्ट में सैमसंग गैलेक्सी ऑन मैक्स की बैटरी 10 घंटे और 7 मिनट तक चली। बैटरी की क्षमता को देखते हुए इस नतीजे को अच्छा नहीं कहा जाएगा। इसी क्षमता की बैटरी वाले अन्य स्मार्टफोन ने ज़्यादा बेहतर नतीजे दिए थे। सैमसंग ने इस फोन में फास्ट चार्जिंग क्षमता के बारे में नहीं बताया है। लेकिन हमने पाया कि फोन में मौज़ूद चार्जर से बैटरी 90 मिनट में पूरी तरह से चार्ज हो गई।

हमारा फैसला
Samsung Galaxy On Max फ्लिपकार्ट पर 16,900 रुपये में उपलब्ध है। इसकी परफॉर्मेंस से आप निराश नहीं होंगे। कभी भी इसके कमज़ोर होने का एहसास नहीं होगा। डिस्प्ले बड़ा है जो मीडिया इंटरटेनमेंट के लिए अच्छा है। हमारे विचार से गैलेक्सी ऑन मैक्स इस कीमत में आने वाला सबसे बेहतरीन कैमरा फोन है। अगर आप एक ऐसे स्मार्टफोन की तलाश में हैं जो बेहतरीन कैमरे के साथ आता है तो गैलेक्सी ऑन मैक्स सबसे पहला विकल्प होना चाहिए। सैमसंग ने इस बार एंड्रॉयड नूगा का भी अनुभव दिया था। और इंटरफेस पहले की तुलना में ज़्यादा पॉलिश्ड था। सैमसंग गैलेक्सी ऑन मैक्स में दमदार कैमरा है। कई काम के सॉफ्टवेयर फीचर दिए गए हैं। डिस्प्ले बेहतरीन है और प्रोसेसर भी बेहद ही सक्षम है। यह एक हरफनमौला हैंडसेट है। गेमिंग परफॉर्मेंस के अलावा आप हर डिपार्टमेंट से संतुष्ट होंगे।

हालांकि, कंपनी का अपना सैमसंग गैलेक्सी जे7 मैक्स थोड़ी सी ज़्यादा कीमत में बेहतर स्पेसिफिकेशन के साथ आता है। अगर आप बहुत ज़्यादा नहीं खर्चना चाहते तो Moto G5 Plus, Xiaomi Mi Max 2 और ओप्पो एफ3 अच्छे विकल्प हैं।
  • डिज़ाइन
  • डिस्प्ले
  • सॉफ्टवेयर
  • परफॉर्मेंस
  • बैटरी लाइफ
  • कैमरा
  • वैल्यू फॉर मनी

डिस्प्ले

5.70 इंच

बैटरी क्षमता

3300 एमएएच

प्रोसेसर

1.69 गीगाहर्ट्ज़ ऑक्टा-कोर

फ्रंट कैमरा

13 मेगापिक्सल

रिज़ॉल्यूशन

1080x1920 पिक्सल

रैम

4 जीबी

ओएस

एंड्रॉ़यड 7.0

स्टोरेज

32 जीबी

रियर कैमरा

13 मेगापिक्सल
केतन प्रताप गैजेट्स 360 के लिए केतन प्रताप ख़बरों के खिलाड़ी हैं। केतन ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन से अंग्रेजी पत्रकारिता की पढ़ाई ... और भी »

संबंधित ख़बरें

 
 
 
लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।