नोकिया 6 (Nokia 6) का रिव्यू

 
नोकिया 6 (Nokia 6) का रिव्यू
नोकिया 6, नोकिया ब्रांड का पहला एंड्रॉयड स्मार्टफोन था जिसे एचएमडी ग्लोबल ने इस साल की शुरुआत में लॉन्च किया था। सबसे पहले नोकिया 6 को चीन में लॉन्च किया गया था और इसके कुछ महीने बाद फोन को दूसरे बाज़ारों में उपलब्ध करा दिया गया था। एचएमडी ग्लोबल के लिए नोकिया 6 का लॉन्च, एंड्रॉयड स्मार्टफोन स्पेस की तरफ़ बढ़ाया गया पहला कदम था।

तब से लेकर अब तक, नोकिया 3 (रिव्यू) और नोकिया 5 को भारत में पेश किया जा चुका है और अब नोकिया 6 भी आ गया है। भारत में इस फोन को जून में पेश किया गया था और अमेज़न इंडिया पर बुधवार को यह फोन पहली बारत सेल में उपलब्ध कराया जाएगा।

(मोबाइल लॉन्च, स्मार्टफोन रिव्यू, और अन्य काम की जानकारी पाएं हमारे यूट्यूब चैनल से। सब्सक्राइब करें)

कहा जा रहा है कि भारत में नोकिया 6 की पहले ही भारी मांग है, और अमेज़न इंडिया का दावा है कि पहली सेल के लिए दस लाख से ज़्यादा रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। नोकिया ब्रांड के तीनो एंड्रॉयड स्मर्टफोन की बात करें तो माना जा रहा है कि नोकिया ने ख़ासतौर पर नोकिया 6 डिवाइस के साथ ही वापसी की है। इस फोन में फिनलैंड के ब्रांड जैसा ही डिज़ाइन है, और फोन में स्टॉक एंड्रॉयड का अनुभव मिलेगा जिसके साथ फटाफट अपडेट मिलने का वादा किया गया है।


भारत में उपलब्ध तीनों वेरिएंट में से इस फोन में सबसे बेहतर स्पेसिफिकेशन हैं। लेकिन, फोन का पुराना होना एक समस्या है। नोकिया 6 एक मिड-रेंज स्मार्टफोन है, जिसे सबसे पहले आज से सात महीने पहले लॉन्च किया गया था और आज के स्टैंडर्ड के हिसाब से फोन के स्पेसिफिकेशन पुराने हो गए हैं। कीमत के लिहाज़ से देखें तो, फोन को मौज़ूदा प्रतिद्वंदियों से टक्कर मिल सकती है।

क्या एक लोकप्रिय ब्रांड के लिए यह कामयाब वापसी है या फिर यह सिर्फ बड़ी बातों तक ही सीमित है? नोकिया 6 के विस्तृत रिव्यू में जानें।

नोकिया 6 डिज़ाइन
नोकिया 3 के डिज़ाइन की तरह ही, नोकिया 6 एक रंगीन रिटेल बॉक्स में आता है जिससे आपको नोकिया के पुराने दिनों की याद आएगी। हाथ में पकड़ने पर फोन मज़बूत महसूस होता है और कंपनी का कहना है कि फोन को 6000 सीरीज़ एल्युमिनियम के सिंगल पीस से बनाया गया है।

इससे फोन को मजबूती मिलती है और कभी-कभार गिरने से फोन को कोई नुकसान नहीं होगा। हमारे रिव्यू के दौरान, नोकिया 6 गलती से कई बार गिरा लेकिन इसे कोई नुकसान नहीं पहुंचा। मेटैलिक रियर का मतलब है कि फोन फिसलता है और हमारी सलाह है कि नोकिया 6 को एक रियर कवर के साथ इस्तेमाल करें।

7.85 मिलीमीटर की मोटाई वाला नोकिया 6 सबसे पतला फोन नहीं है, लेकिन 169 ग्राम का वज़न एक 5.5 इंच स्क्रीन वाले फोन के लिए ठीक है। हमें लगता है कि फो को एक हाथ से देर तक इस्तेमाल करना सुविधाजनक नहीं था क्योंकि यह फोन थोड़ा चौंडा भी है और घुमावदार किनारे ना होने के चलते फोन कुछ देर बाद चुभने लगता है। बात जब अच्छी ग्रिप की होती है तो हम गोल किनारों वाले फोन का सुझाव देते हैं। फ्रंट में कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास दिया गया है, लेकिन किनारों पर यह सुरक्षा नहीं मिलेगी।
 
nokia

फोन में दांयीं तरफ़ पावर और वॉल्यूम बटन हैं जो आसानी से इस्तेमाल किए जा सकते हहैं। फोन के रियर पर ऊपर व नीचे की ओर एंटीना बैंड दिए गए हैं। नोकिया 6 में ऊपर की तरफ़ एक 3.5 एमएम ऑडियो जैक है जबकि नोकिया 6 में नीचे की तरफ़ एक चार्जिंग पोर्ट व डुअल स्पीकर दिए गए हैं।

हाइब्रिड डुअल-सिम ट्रे में दो नैनो सिम का इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन यूज़र को दूसरी सिम या एक माइक्रोएसडी कार्ड में से किसी एक का चुनाव करना पड़ेगा। आगे की तरफ़ दिया गया फिंगरप्रिंट स्कैनर टच से ही काम करता है और इसे दबाने की जरूरत नहीं होती। यह एक होम बटन का काम भी करता है। इसी कीमत वाले दूसरे फोन से तुलना करें तो, नोकिया 6 का फिंगरप्रिंट स्कैनर बहुत तेजी से डिवाइस को अनलॉक नहीं करता लेकिन यह रोज़मर्रा के इस्तेमाल के लिए अच्छा है।

फोन का प्राइमरी कैमरा अंडाकार है जिससे आपको नोकिया के लूमिया दिनों की याद आएगी। सिंगल रियर सेंसर एक डुअल-टोन फ्लैश के साथ आता है। कैमरा थोड़ा सा उभरा हुआ है और यह एक और वज़ह है जिसके लिए आपको रियर कवर की जरूरत होगी। नोकिया की दूसरी डिवाइस की तरह ही, आगे और पीछे एक ब्रांड लोगो दिया गया है।

5.5 इंच स्क्रीन चमकदार है और कलर भी ख़ासे क्रिस्प हैं। फोन में व्यूइंग एंगल या सूरज़ की रोशनी में इस्तेमाल करने में हमें कोई दिक्कत नहीं हुई। लेकिन फोन में नोटिफिकेशन के लिए कोई एलईडी इंडिकेटर नहीं है जिसे लेकर कंपनी का दावा है कि यह फैसला बाज़ार पर की गई रिसर्च के बाद लिया गया है।

कुल मिलाकर, नोकिया 6 आपको डिज़ाइन के लिहाज़ से निराश नहीं करेगा। और फोन लुक के मामले में बाकी सभी फोन को टक्कर देता है। हर रोज़ के इस्तेमाल के लिए फोन की बिल्ड क्वालिटी आपको अच्छी लगेगी।

रिटेल बॉक्स में आपको एक पावर अडेप्टर, एक चार्जिंग केबल, एक ईयरफोन, स्टैंडर्ड दिशा-निर्देश पुस्तिका, एक सिम इजेक्टर टूल और फोन तो मिलेगा ही।
 
nokia

नोकिया 6 स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेयर
नोकिया 6 में एक 5.5 इंच फुल एचडी 403 पीपीआई आईपीएस एलसीडी स्क्रीन है। इस फोन में एक क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 430 प्रोसेसर और 3 जीबी रैम दिया गया है। स्नैपड्रैगन 430 प्रोसेसर का इस्तेमाल कम कीमत वाले फोन में आम हैं। इनमें लेनोवो के6 नोट (रिव्यू), लेनोवो के6 पावर (रिव्यू), वीवो वाई55एल,शाओमी रेडमी 3एस प्राइम (रिव्यू), पैनासोनिक एलुगा रे मैक्स और मोटोरोला मोटो जी5 है।

नोकिया 6 में 32 जीबी स्टोरेज और 128 जीबी तक के माइक्रोएसडी कार्ड का सपोर्ट मौज़ूद है। फोन में 3000 एमएएच की बैटरी है। कैमरे की बात करें तो इस फोन में 16 मेगापिक्सल का रियर जबकि 8 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा दिया गया है। दोनों फोन अपर्चर एफ/2.0 के साथ आते हैँ। इस फोन में एक माइक्रो-यूएसबी पोर्ट है जो चार्जिंग व डेटा ट्रांसफर के साथ आएगा। इसके अलावा डॉल्बी एटमॉस ऑडियो एनहेंसमेंट के साथ स्टीरियो स्पीकर भी हैं। फोन में 4जी वीओएलटीई सपोर्ट भी है। कनेक्टिविटी के लिए यूएसबी-ओटीजी, वाई-फाई और ब्लूटूथ 4.1 जैसे फ़ीचर भी हैं।

एचएमडी ग्लोबल ने वादा किया था कि नोकिया ब्रांड के सभी फोन स्टॉक एंड्रॉयड के साथ आएंगे। इससे फोन को एंड्रॉयड अपडेट रोल आउट करना आसान होगा। नोकिया 6 एंड्रॉयड 7.1.1 नूगा पर चलता है और हमारी यूनिट को अगस्ट में ओवर-द-एयर सिक्योरिटी अपडेट मिली। एचएमडी ने नोकिया 6 के साथ-साथ इस सीरीज़ के दूसरे फोन को एंड्रॉयड ओ अपडेट मिलने का भी वादा किया है।
 
nokia

एंड्रॉयड नूगा के साथ, नोकिया 6 में गूगल पिक्सल डिवाइस वाले लगभग सारे फ़ीचर हैं। नोकिया 6 के सभी फ़ीचर में से हमें सबसे ज़्यादा पसंद आया आइकन पर देर तक प्रेस कर कई एक्शन परफॉर्म किए जा सकते हैं। एंड्रॉयड 7.1.1 की मदद से नोटिफिकेशन शेड में छह क्विक टॉगल मिलते हैं, इससे पहले के वर्ज़न में पांच टॉगल थे।

पावर बटन को दो बार दबाने पर कैमरा ऐप को फटाफट लॉन्च किया जा सकता है। नोकिया 6 में बहुत कम थर्ड पार्टी ऐप दिए गए हैं जिनमें अमेज़न ऐप शामिल हैं और शायद ऐसा फोन के एक्सक्लूसिव तौर पर अमेज़न इंडिया पर उपलब्ध है। फोन में सभी गूगल ऐप जैसे फोटोज़, एक डिफॉल्ट गैलरी ऐप के तौर पर है। नोकिया 6 से हमें मोटो जी5 प्लस (रिव्यू) जैसा अनुभव ही मिला, मोटो जी5 प्लस भी इसी कीमत में आता है।

नोकिया 6 कैमरा परफॉर्मेंस
नोकिया 6 में दिया गया 16 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा तेजी से फोकस लॉक करता है और पर्याप्त रोशनी में तस्वीरें अच्छी डिटेलिंग के साथ आती हैं। फेज़ डिटेक्शन ऑटोफोकस से मदद मिलती है, लेकिन कई बार हमने देखा कि फोकस लॉक होने के बावज़ूद तस्वीरें कैप्चर होने और सेव होने में समय लगता है। हमें लगा कि तस्वीरों में कलर म्यूट रहे, जो शायद कई सारे लोगों को पसंद ना आए। हमारे अनुभव के दौरान, एचडीआर मोड से भी कोई ख़ास मदद नहीं मिली। इसके अलावा मैक्रो व क्लोज़-अप शॉट में किनारों के चारों तरफ नोटिस किए जा सकने वाला डिस्टॉर्शन भी दिखा।

रात में कैमरे से ठीकठाक तस्वीरें आ जाती हैं लेकिन अगर रोशनी अच्छी हो तब। अच्छी रोशनी नहीं होने पर तस्वीरें लगभग काली आती हैं। ऑटोफोकस भी कम रोशनी में ठीक तरह काम नहीं करता। मैनुअली फोकस करने के लिए हमें स्क्रीन पर टैप करने की जरूरत पड़ी और सही शॉट लेने में हमें एक से ज़्यादा बार प्रयास करना पड़ा। बात करें रात में फोटोग्राफी की तो, डिटेलिंग की कमी रही और यह स्पष्ट है कि इस कीमत में आने वाले दूसरे फोन की तुलना में नोकिया 6 पीछे रह जाता है।
 
nokia
nokia
nokia
nokia

कैमरा ऐप वनीला है जिसका मतलब है कि आपक बहुत सारे विकल्प नहीं मिलेंगे जब तक कि आप कोई थर्ड-पार्टी ऐप डाउनलोड ना कर लें। अगर रोशनी अच्छी हो तो 8 मेगापिक्सल के फ्रंट कैमरे से अच्छी सेल्फी आती हैं। सोशल मीडिया पर अपलोड करने के लिए सेल्फी की क्वालिटी ठीक है।

नोकिय 6 परफॉर्मेंस
फोन में दिए गए स्नैपड्रैगन 430 प्रोसेसर को नोकिया 6 से कम कीमत वाले स्मार्टफोन में दिया जा रहा है। फोन बेकार नहीं है लेकिन यह अपनी कैटेगरी में सबसे बुरा भी नहीं है। फोन में ऐप इस्तेमाल करने और लोड करने में हमें कोई दिक्कत नहीं हुई और टच रिस्पॉन्स भी ठीक रहा। 3 जीबी रैम अधिकतर लोगों के लिए ठीक रहेगी।

फोन में गेम खेलते समय परफॉर्मेंस अच्छी रहती है और नोकिया 6 में एसफाल्ट नाइट्रो जैसे गेम खेलते समय भी कोई दिक्कत नहीं हुई। लेकिन फोन कई बार गेम खेलते समय, कैमरा इस्तेमाल करेते समय और जीपीएस नेविगेशन के दौरान गर्म हो जाता है जो असुविधाजनक है। अच्छी बात है कि ऐप बंद करने के बाद फोन तुरंत ठंडा हो जाता है।

5.5 इंच स्क्रीन के साथ वीडियो देखने में हमें मज़ा आया। क्वालिटी अच्छी है, लेकिन हमें लगा कि इस कीमत वाले दूसरे फोन जैसे मोटो जी5 प्लस में भी इससे बेहतर स्क्रीन है।

हमारे स्टैंडर्ड बेंचमार्क टेस्ट में नोकिया 6 ने स्नैपड्रैगन 430 प्रोसेसर वाले दूसरे फोन से बेहतर परफॉर्म किया।

फोन में दिए गए डुअल स्पीकर से तेज और स्पष्ट आवाज़ आती है। डॉल्टी एटमॉस साउंड एनहेंसमेंट है और इसे टर्न ऑन व ऑफ करने पर फर्क साफ़ दिखता है। हम कह सकते हैं कि स्पीकर, इस कीमत वाले बाकी फोन में सबसे ज़्यादा स्पष्ट हैं। लेकिन, फोन के साथ आने वाले ईयरफोन की क्वालिटी औसत है और इससे ज़्यादा अपेक्षा ना करें। हमारा सुझाव है कि नोकिया 6 के साथ अपने ईयरफोन का ही इस्तेमाल करना बेहतर होगा।

बात जब सेल्युलर नेटवर्क की हो तो, नोकिया 6 आपको प्रभावित करेगा। फोन से कॉल करने पर आवाज़ स्पष्ट रहती है और हम जियो सिम के इस्तेमाल के साथ ही वीओएलटीई कॉल भी कर पाए। नोकिया 6 अभी डायरेक्ट 4जी वीडियो कॉल ऑफर नहीं करता।
 
nokia

नोकिया 6 बैटरी लाइफ़
नोकिया 6 में 3000 एमएएच की नॉन-रिमूवेबल बैटरी दी गई है और कंपनी का दावा है कि यह एक दिन तक चलेगी। हमारे इस्तेमाल के दौरान, रोजमर्रा के इस्तेमाल के दौरान यह दावा गलत साबित नहीं हुआ। फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, टेलीग्राम, गूगल मैप्स, गूगल फोटोज़ज और व्हाट्सऐप जैसे ऐप बैकग्राउंड में खुले होने के साथ भी फोन 15-16 घंटे तक चला। इसके अलावा हमारे स्टैंडर्ड एचडी वीडियो लूप टेस्ट में फोन की बैटरी ने 11 घंटे और 30 मिनट तक साथ दिया, जो कि बुरा नहीं है।

लेकिन, नोकिया 6 में फास्ट चार्जिंग सपोर्ट ना होना निराश करता है। हमने पाया कि नोकिया 6 को चार्ज होने में दो घंटे से ज़्यादा लग जाते हैं, जो कि बड़ी बैटरी वाले फोन में देखा जाता है।

हमारा फैसला
छह महीने के इंतज़ार के बाद, नोकिया 6 को आखिरकार भारतीय बाज़ार में पेश कर दिया गया है। फोन हर रोज़ के इस्तेमाल के लिए अच्छा है। इसका ब्रांड, डिज़ाइन और बिल्ड क्वालिटी ही इसकी सबसे अहम ख़ासियत हैं। स्टॉक एंड्रॉयड एक अच्छा फ़ीचर है और एंड्रॉयड ओ अपडेट के मिलने की पुष्टि भी अच्छी ख़बर है। संगीत के शौकीन लोगों को हाई-क्वालिटी स्पीकर पसंद आएंगे। बहरहाल, फोन में औसत कैमरा, बैटरी लाइफ और गर्म होने जैसी कुछ ख़ामियां भी हैं।

नोकियाय 6 एक्सक्लूसिव तौर पर बुधवार से अमेज़न इंडिया पर मिलेगा। फोन की कीमत 14,999 रुपये है। और कुल मिलाकर , यह ज़्यादा लगती है। नोकिया 6 जैसे हार्डवेयर के साथ ही कई दूसरे स्मार्टफोन बाज़ार में कम कीमत पर मौज़ूद हैं। मोटो जी5 प्लस (रिव्यू) और शाओमी रेडमी नोट 4 (रिव्यू) भी इसी बजट में आते हैं और इनमें ज़्यादा बेहतर स्पेसिफिकेशन हैं। लेकिन अगर आपको बड़ा स्क्रीन पसंद है व एक कस्टम यूआई इस्तेमाल करने में दिक्कत नहीं है तो शाओमी मी मैक्स 2 भी एक विकल्प है।
  • डिज़ाइन
  • डिस्प्ले
  • सॉफ्टवेयर
  • परफॉर्मेंस
  • बैटरी लाइफ
  • कैमरा
  • वैल्यू फॉर मनी

डिस्प्ले

5.50 इंच

प्रोसेसर

1.4 गीगाहर्ट्ज़ ऑक्टा-कोर

फ्रंट कैमरा

8-मेगापिक्सल

रिज़ॉल्यूशन

1080x1920 पिक्सल

रैम

3 जीबी

ओएस

एंड्रॉ़यड 7.1.1

स्टोरेज

32 जीबी

रियर कैमरा

16-मेगापिक्सल

बैटरी क्षमता

3000 एमएएच
केतन प्रताप गैजेट्स 360 के लिए केतन प्रताप ख़बरों के खिलाड़ी हैं। केतन ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन से अंग्रेजी पत्रकारिता की पढ़ाई... और भी »

संबंधित ख़बरें

 
लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।