Nokia 3 का रिव्यू

 
Nokia 3 का रिव्यू

ख़ास बातें

  • Nokia 3 को पिछले महीने ही भारत में लॉन्च किया गया था
  • Xiaomi Redmi 4, Moto G5 और Yu Yureka Black जैसे हैंडसेट से है भिड़ंत
  • नोकिया 3 भारत में 9,499 रुपये में बिकता है
नोकिया ब्रांड के तीन नए एंड्रॉयड स्मार्टफोन में से सबसे किफायती Nokia 3 को पिछले महीने ही भारत में लॉन्च किया गया था। नोकिया नाम की बहुत दिनों बाद भारतीय मार्केट में वापसी हुई है, लेकिन यह भी ध्यान रहे कि नोकिया अब खुद फोन नहीं बनाती। एक वक्त पर स्मार्टफोन दुनिया की बादशाह मानी जाने वाली नोकिया की वापसी एचएमडी ग्लोबल ने कराई है। एचएमडी ग्लोबल फिनलैंड की एक कंपनी है जिसे नोकिया और माइक्रोएसॉफ्ट के पूर्व कमर्चारी चलाते हैं। पिछले साल ऐलान किए गए डील के मुताबिक, एचएमडी ग्लोबल अगले 10 साल के लिए ग्लोबल मार्केट में नोकिया ब्रांड के स्मार्टफोन बनाएगी और बेचेगी। कंपनी को नोकिया ब्रांड पर बहुत भरोसा है। दूसरी तरफ, प्रशंसकों को भी इस हैंडसेट का बेसब्री से इंतज़ार था जिसे आखिरकार लॉन्च कर दिया गया।

नए अवतार वाले नोकिया 3310 को सबसे पहले भारतीय मार्केट में पेश किया गया था। इसे मिली-जुली प्रतिक्रियाएं मिलीं। बाकी दो एंड्रॉयड स्मार्टफोन Nokia 5 और Nokia 6 अभी मार्केट में नहीं उपलब्ध कराए गए हैं। सच कहें तो मोबाइल वर्ल्ड कॉन्ग्रेस 2017 में सबसे ज़्यादा सुर्खियां नोकिया ब्रांड ने ही बटोरी थीं। लेकिन सुर्खियों और बिक्री में बहुत फर्क है। इन हैंडसेट की बिक्री तभी ज़्यादा होगी, जब ग्राहक को यह लगेगा कि ये दमदार फोन हैं।

एचएमडी ग्लोबल, नोकिया 3 की मार्केटिंग एक ऐसे हैंडसेट के तौर पर कर रही है जिसका डिजाइन बेहतरीन है और ग्राहकों को बजट में नियमित अपडेट के साथ शुद्ध एंड्रॉयड का अनुभव मिलेगा। Nokia 3 की कीमत ऐसी रखी गई है कि इसकी भिड़ंत सीधे तौर पर कई लोकप्रिय हैंडसेट से हो रही है। हालांकि, इसके लिए राहें आसान नहीं हैं। फोन के ज़रिए भारतीय मार्केट में खास जगह बनाने के लिए एचएमडी ग्लोबल को Xiaomi Redmi 4, Moto G5 और Yu Yureka Black जैसे हैंडसेट को पछाड़ना होगा। नोकिया 3 के बारे में यह भी कहा जा रहा है कि इस एंड्रॉयड फोन में सारे ज़रूरी एंड्रॉयड फीचर हैं। क्या यह काफी है? आइए जानने की कोशिश करते हैं।


Nokia 3 डिज़ाइन
नोकिया 3 को सफेद रंग के रिटेल बॉक्स में पेश किया गया है। यह आपको नोकिया के दिनों की याद दिलाएगा। फोन को देखकर आपको विंडोज मोबाइल प्लेटफॉर्म पर चलने वाले लूमिया रेंज के हैंडसेट की भी याद आएगी। लेकिन समानता सिर्फ डिज़ाइन तक सीमित है, क्योंकि नोकिया 3 एंड्रॉयड पर चलता है। अगर आप मार्केट में 10,000 रुपये से कम के स्मार्टफोन पर गौर करें तो पाएंगे कि ये सभी फोन मेटल यूनीबॉडी वाले हैं और इनके डिज़ाइन भी मिलते-जुलते हैं। चाहे वह यू यूरेका ब्लैक हो या शाओमी रेडमी 4। हमारे विचार से नोकिया 3 बजट सेगमेंट में नया होने का एहसास देता है। नोकिया 3 फुल-मेटल बॉडी वाला फोन नहीं है। इसमें पिछले हिस्से पर पॉलीकॉर्बोनेट का इस्तेमाल हुआ है और मेटल फ्रेम के कारण डिजाइन निखरकर सामने आता है। कुछ भी अनोखा नहीं है, लेकिन यह सस्ता नहीं लगता।

हाथों में इस फोन का एहसास इस सेगमेंट में अब तक का सबसे बेहतरीन है। रिव्यू के दौरान में हमने बिना किसी फ्रिक के इस फोन को एक हाथ से इस्तेमाल में लाया। वर्गाकार बनावट के कारण फोन को हर तरफ से ग्रिप करना आसान है। हमें रिव्यू के लिए नोकिया 3 का मैटे ब्लैक यूनिट मिला था। यह सिल्वर व्हाइट रंग में भी उपलब्ध है। पावर और वॉल्यूम बटन दायीं तरफ हैं। लेकिन फोन की बॉडी से मेल खाने के लिए इनका रंग भी ब्लैक रखा गया है।

बायीं तरफ आपको दोनों सिम कार्ड और माइक्रोएसडी कार्ड के लिए अलग-अलग स्लॉट मिलेंगे। यह अच्छी बात है, क्योंकि हाल के दिनों में कंपनियों ने हाइब्रिड स्लॉट पर ज़्यादा भरोसा दिखाया है। निचले हिस्से पर आपको स्पीकर ग्रिल के साथ चार्जिंग पोर्ट मिलेगा। वहीं, टॉप पर 3.5 एमएम ऑडियो जैक को जगह मिली है। अगर आप गौर से देखेंगे तो टॉप और निचले हिस्से पर एंटीना बैंड को भी देख पाएंगे। नोकिया का लोगो आगे और पिछले हिस्से पर है, बिल्कुल नोकिया के पुराने हैंडसेट की तरह।
 
nokia

फोन पर टाइप करना आसान था। 8.48 मिलीमीटर मोटाई वाला यह फोन रेडमी 4 से पतला है। लेकिन शाओमी वाले फोन में ज़्यादा बड़ी बैटरी है। रिव्यू के दौरान हमने पाया कि पावर और वॉल्यूम बटन को सुविधा से हिसाब से ज़्यादा ऊपर जगह मिली है। एक हाथ से इस्तेमाल करते वक्त हमने पाया कि इन बटन तक पहुंच पाना आसान नहीं था। हमें फिंगरप्रिंट सेंसर की भी कमी खली जो कि आज की तारीख में इस कीमत वाले हैंडसेट में आम है। इस हैंडसेट के कैपसिटिव बटन बैकलिट नहीं हैं। इसका मतलब है कि अंधेरे में इन्हें खोजने में आपको दिक्कत होगी।

Nokia 3 के रिटेल बॉक्स में आपको निर्देश पुस्तिका, एक चार्जर, यूएसबी केबल और एक सिम इजेक्टर टूल मिलेगा।

Nokia 3 के स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेयर
नोकिया 3 में 5 इंच का आईपीएस एलसीडी स्क्रीन है जिसका रिज़ॉल्यूशन  720x1280 पिक्सल है। इस पर 2.5डी कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास की प्रोटेक्शन मौज़ूद है। इसमें 1.3 गीगाहर्ट्ज़ क्वाड-कोर मीडियाटेक एमटी6737 चिपसेट के साथ 2 जीबी रैम दिए गए हैं। इनबिल्ट स्टोरेज 16 जीबी है और ज़रूरत पड़ने पर 128 जीबी तक का माइक्रोएसडी कार्ड इस्तेमाल करना संभव होगा। इसके फ्रंट और बैक पैनल पर 8 मेगापिक्सल के सेंसर हैं। रियर कैमरा एफ/2.0 अपर्चर, ऑटोफोकस और एलईडी फ्लैश के साथ आता है। दूसरी तरफ, फ्रंट कैमरे में भी ऑटोफोकस है और यह 84 डिग्री फील्ड ऑफ व्यू के साथ आता है। फोन में 2630 एमएएच की बैटरी है। 4जी और वॉयस ओवर एलटीई के लिए सपोर्ट मौज़ूद है। कनेक्टिविटी फीचर में यूएसबी-ओटीजी, ब्लूटूथ और वाई-फाई शामिल हैं।

नोकिया 3 बजट सेगमेंट के चुनिंदा स्मार्टफोन में से एक है जो एंड्रॉयड नूगा के साथ आता है। आपको स्टॉक एंड्रॉयड का अनुभव मिलेगा। आपको सारे नोटिफिकेशन एक ही ऐप में मिलेंगे। किसी भी मैसेज का जवाब नोटिफिकेशन पॉप-अप से ही देना संभव होगा। नोटिफिकेशन मैनेजमेंट के ज़रिए यूज़र किसी खास ऐप के नोटिफिकेशन को डिसेबल या म्यूट कर पाएंगे। ओवरव्यू बटन पर डबल टैप करके ऐप के बीच स्विच करना संभव होगा। इसके अलावा सेटिंग्स ऐप भी नए अवतार में आ जाएगा। स्प्लिट स्क्रीन मल्टीटास्किंग भी कर पाना संभव हो जाएगा। Nokia 3 आउट ऑफ बॉक्स एंड्रॉयड असिस्टेंट को सपोर्ट करता है। यह फीचर अभी इस प्राइस सेगमेंट के कई फोन में नहीं है।
 
nokia

मासिक सिक्योरिटी अपडेट के अलावा एचएमडी ग्लोबल ने नोकिया 3 को उपलब्ध कराए जाने पर एंड्रॉयड ओ का अपडेट देने का भी वादा किया है।

Nokia 3 परफॉर्मेंस और कैमरा
नोकिया 3 दैनिक इस्तेमाल में अपनी भूमिका बखूबी निभाता है। जीपीएस नेविगेशन और लंबे वक्त तक गेम खेलने के बाद भी फोन बहुत ज़्यादा गर्म नहीं होता। संभवतः ऐसा पॉलीकार्बोनेट बैक के कारण हुआ।

हालांकि, हमने पाया कि फोन मल्टीटास्किंग के दौरान थोड़ा धीमा ज़रूर पड़ा। एक ऐप से दूसरे ऐप पर स्विच करने में थोड़ा लैग देखने को मिला। बता दें कि बैकग्राउंड में 12 ऐप पहले से खुले हुए थे। फोन ने आम गेम को आसानी से हैंडल किया। लेकिन नीड फॉर स्पीड जैसे ज़्यादा पावरफुल ग्राफिक्स वाले गेम के साथ यह ज़रूर धीमा हुआ। फोन ने कई किस्म के वीडियो और ऑडियो फाइल को आसानी से प्ले किया।
 
nokia

एक लाउडस्पीकर छोटे कमरे के लिए उपयुक्त है। आवाज़ स्पष्ट आती है। रिटेल बॉक्स में दिए गए ईयरफोन के बारे में भी ऐसा ही कहा जा सकता है। मज़ेदार बात यह है कि नोकिया 3 उन चुनिंदा हैंडसेट में से हो जो बंडल्ड ईयरफोन के साथ आते हैं।

नोकिया 3 के 5 इंच के डिस्प्ले की कलर रिप्रोडक्शन और ब्राइटनेस बेहतरीन है। हमें नोकिया 3 के स्क्रीन पर वीडियो देखने में मज़ा आया। हमने पाया कि यह बजट सेगमेंट के बेहतरीन स्क्रीन में से एक हैं, खासकर सूरज की रोशनी में देखने और व्यूइंग एंगल के मामले में। लेकिन यह भी गौर करने वाली बात है कि नोकिया 3 से सस्ते यू यूरेका ब्लैक में आपको फुल-एचडी स्क्रीन मिलता है।

नोकिया 3 ने हमें बेंचमार्क नतीजों से बहुत प्रभावित नहीं किया। शाओमी रेडमी 4 (रिव्यू) और यू यूरेका ब्लैक (रिव्यू) ने इन्हीं टेस्ट में ज़्यादा बेहतर नतीजे दिए थे।

8 मेगापिक्सल का रियर कैमरा अच्छी रोशनी में ठीक-ठाक काम करता है। ऑटोफोकस भी तेजी से काम करता है। अच्छी रोशनी में लिए गए सैंपल शॉट में डिटेल भी था और किनारों पर थोड़ा नॉयज भी। हालांकि, हमने यह भी पाया कि सैंपल के धुंधले हिस्से में डिटेल की कमी थी। और बड़े एरिया में ज़्यादा एक्सपोज़र की शिकायत थी। कई बार तस्वीरों में व्हाइट बैलेंस भी गड़बड़ था। नोकिया 3 में एचडीआर मोड भी है लेकिन यह कई बार ज़रूरत के वक्त स्विच इन नहीं होता। हमें लगता है कि यह फीचर कई बार कारगर साबित हो सकता है। अफसोस की बात है कि कम रोशनी में तस्वीरें बहुत अच्छी नहीं आईं। ऑटोफोकस धीमे से लॉक होता है। और हमने जो सैंपल शॉट लिए उनमें डिटेल की कमी थी। बहुत ज़्यादा नॉयज भी थे।
 
nokia
nokia
nokia
nokia

Nokia 3 में आपको 1080 पिक्सल वीडियो रिकॉर्ड करने की सुविधा मिलेगी। और क्वालिटी भी ठीक-ठाक है। फोन के फ्रंट कैमरे ने भी निराश किया। ऑटोफोकस फीचर होने के बावजूद कई बार तस्वीरें ब्लर आईं। आप चाहें तो नोकिया 3 को वीडियो कॉल या सेल्फी के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन क्वालिटी में बहुत ज़्यादा उम्मीदें ना करें।

हालांकि, हमें कैमरा ऐप पसंद आया। इसका यूज़र इंटरफेस समझने में बहुत ही आसान है। ज़्यादा फंक्शन एक ही टैप में एक्टिव किए जा सकते हैं। ब्यूटिफाई मोड में फोन कुछ फिल्टर लगाकर फोटो को बेहतर बनाने की कोशिश करता है, लेकिन यह हमेशा प्रभावी नहीं है।

Nokia 3 बैटरी लाइफ
जमकर इस्तेमाल करने पर नोकिया 3 की बैटरी 16-18 घंटे तक चली। इसमें कुछ भी चौंकाने वाला नहीं है, खासकर 2630 एमएएच की क्षमता को देखते हुए। हमने फोन को करीब एक हफ्ते तक इस्तेमाल किया और हम कह सकते हैं कि बहुत ज़्यादा इस्तेमाल नहीं करने पर ही फोन ने बेहतर बैटरी लाइफ दी। हमारे एचडी वीडियो लूप टेस्ट में बैटरी 10 घंटे 25 मिनट तक चली जो इस साइज़ के फोन के लिए ठीक है। आपको फास्ट चार्जिंग सपोर्ट नहीं मिलेगा। फोन की बैटरी को शून्य से 100 फीसदी तक चार्ज करने में करीब 2 घंटे का वक्त लगा।

हमारा फैसला
नोकिया 3 भारत में 9,499 रुपये में बिकता है। यह दिखने में एक अच्छा हैंडसेट है और आपको 4जी के साथ वीओएलटीई सपोर्ट मिलेगा। एक और अच्छी बात यह है कि कंपनी ने भविष्य में एंड्रॉयड अपडेट का वादा किया है। हर डिपार्टमेंट में इसकी परफॉर्मेंस और कैमरा इसके पक्ष में नहीं जाते। हमें फिंगरप्रिंट सेंसर की भी कमी खली, इसे अब आम फीचर होना चाहिए।

हमारे विचार से नोकिया 3 पहली बार स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वाले यूज़र के लिए बना है, अगर आप इसे पास के दुकान से खरीदने में सफल रहे तो। इस कीमत में आपके पास शाओमी रेडमी 4 और यू यूरेका ब्लैक का भी विकल्प है। दोनों ही हैंडसेट परफॉर्मेंस के मामले में बेहतर हैं। इस प्राइस रेंज में Asus ZenFone Live भी मजबूत चुनौती पेश करता है।
  • डिज़ाइन
  • डिस्प्ले
  • सॉफ्टवेयर
  • परफॉर्मेंस
  • बैटरी लाइफ
  • कैमरा
  • वैल्यू फॉर मनी

डिस्प्ले

5.00 इंच

प्रोसेसर

1.3 गीगाहर्ट्ज़ क्वाड-कोर

फ्रंट कैमरा

8-मेगापिक्सल

रिज़ॉल्यूशन

720x1280 पिक्सल

रैम

2 जीबी

ओएस

एंड्रॉ़यड 7.0

स्टोरेज

16 जीबी

रियर कैमरा

8-मेगापिक्सल

बैटरी क्षमता

2630 एमएएच
केतन प्रताप गैजेट्स 360 के लिए केतन प्रताप ख़बरों के खिलाड़ी हैं। केतन ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन से अंग्रेजी पत्रकारिता की पढ़ाई... और भी »

संबंधित ख़बरें

 
लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।