इनफोकस एपिक 1 का रिव्यू

 
इनफोकस एपिक 1 का रिव्यू
इनफोकस ने इस साल की शुरुआत में कम कीमत वाले एंड्रॉयड स्मार्टफोन को बिंगो ब्रांड के तहत पेश किया था। इनमें बिंगो 10 (रिव्यू) और बिंगो 50 (रिव्यू) शामिल हैं। बाजार में उपलब्ध दूसरे स्मार्टफोन की तुलना में इन स्मार्टफोन की परफॉर्मेंस बहुत अच्छी नहीं रही। नया इनफोकस एपिक 1 कंपनी का लेटेस्ट स्मार्टफोन है और इसमें शानदार कैमरे के साथ एक डेका-कोर चिप दिया गया है जो इस डिवाइस की सबसे बड़ी ख़ासियत है। क्या 15,000 रुपये से कम सेगमेंट में इनफोकस एपिक 1 लोकप्रिय मोटो जी4 प्लस और शाओमी रेडमी नोट 3 को टक्कर दे पाएगा पढ़ें रिव्यू।

इनफोकस एपिक 1 का डिज़ाइन और लुक
5.5 इंच डिस्प्ले के साथ इनफोकस एपिक 1 का अगले हिस्से पर स्क्रीन है। फोन में डिस्प्ले प्रोटेक्शन के लिए कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास दिया गया है। इस फोन में गोल ईयरपीस है जिससे यह फोन नेक्स्टबिट रॉबिन स्मार्टफोन की झलक देता है। फोन में इसके अलावा फ्रंट कैमरा समेत सभी स्टैंडर्ड सेंसर हैं। स्मार्टफोन में ऑन-स्क्रीन नेविगेशन बटन का इस्तेमाल किया गया है जिसका मतलब है कि डिस्प्ले के नीचे काफी जगह खाली बची है।

फोन में दायीं तरफ पावर व वॉल्यूम बटन हैं जबकि बांयीं तरफ एक हाइब्रिड सिम ट्रे है। फोन में नीचे की तरफ एक यूएसबी टाइप-सी पोर्ट है। इसके पास में एक स्पीकर ग्रिल है। एपिक 1 में सबसे ऊपर एक आईआर ब्लास्टर दिया गया है जिससे यह एक रिमोट की तरह काम कर सकता है। इसके अलाव ऊपर की तरफ एक 3.5 एमएम ऑडियो जैक भी है।
 

इस स्मार्टफोन में दिया गया ब्रश्ड मेटल रियर एपिक 1 फोन को प्रीमियम लुक देता है। और इसकी घुमावदार आकृति के चलते हैंडसेट की ग्रिप अच्छी रहती है। कैमरा लेंस के नीचे एक गोल फिंगरप्रिंट सेंसर है। नीचे की तरफ इनफोकस का लोगो है। 160 ग्राम वज़न के साथ एपिक 1 ना तो बहुत ज्यादा हल्का और ना ही बहुत भारी महसूस होता है। एक हाथ से भी फोन को इस्तेमाल करना सुविधाजनक है। 8.4 मिलीमीटर मोटई के साथ एपिक 1 इस कीमत में आने वाले दूसरे स्मार्टफोन से काफी पतला लगता है।

हमारी रिव्यू यूनिट रिटेल बॉक्स में नहीं आई। लेकिन ग्राहक को यह फोन खरीदने पर बॉक्स में यूज़र मैनुअल, ईयरफोन और यूएसबी टाइप-सी केबल के साथ एक चार्जर मिलेगा। कुल मिलाकर, इनफोकस द्वारा पेश किए गए दूसरे स्मार्टफोन की तुलना में एपिक 1 का डिज़ाइन और लुक ज्यादा बेहतर है।

इनफोकस एपिक 1 के स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेयर
डुअल सिम वाले इनफोकस एपिक 1 में एक डेका-कोर मीडियाटेक हीलियो एक्स20 (एमटी6797एम) प्रोसेसर दिया गया है। इस फोन में 3 जीबी रैम है। इनबिल्ट स्टोरेज 32 जीबी है जिसे 128 जीबी तक के माइक्रोएसडी कार्ड के जरिए बढ़ाया जा सकता है।

इस फोन में 5.5 इंच फुल एचडी (1080x1920 पिक्सल) एलटीपीएस डिस्प्ले है जो कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास से लैस है। इस स्मार्टफोन में अपर्चर एफ/1.8, डुअल-टोन एलईडी फ्लैश, पीडीएएफ और ऑटो इमेज स्टेबिलाइज़ेशन के साथ 16 मेगापिक्सल कैमरा होता है। जबकि 82 डिग्री वाइड एंगल लेंस और अपर्चर एफ/1.8 के साथ फ्रंट कैमरा 8 मेगापिक्सल कैमरा है।

इस फोन में 3000 एमएएच की नॉन-रिमूवेबल बैटरी है और फास्ट चार्जिंग सपोर्ट करती है। 4जी वीओएलटीई के अलावा दूसरे कनेक्टिविटी फ़ीचर के तौर पर एपिक 1 में ब्लूटथ 4.1, वाई-फाई 802.11 एसी और जीपीएस/ए-जीपीएस जैसे फ़ीचर दिए गए हैं।
 

फोन एंड्रॉयड 6.0 मार्शमैलो पर चलता है जिसके ऊपर कंपनी की इनलाइफ यूआई स्किन दी गई है। इनफोकस खुद को दूसरे चीनी स्मार्टफोन ब्रांड से अलग होने की बात कह रही है लेकिन अनपॉलिश्च इंटरफेस के साथ यह बात सही लगती है। एपिक 1 में मार्शमैलो के कई विज़ुअल फ़ीचर नहीं हैं, इस बारे में हमने बिंगो 50 के रिव्यू में भी जानकारी दी थी। आइकन खासकर काफ़ी पुराने लगते हैं।

इनफोकस ने अपनी इनलाइफ यूआई में कुछ बदलाव किए हैं। ऐप ड्रायर को भी हटा दिया है जिसका मतलब है कि सभी ऐप आइकन अब होमस्क्रीन पर दिखते हैं। एक ख़ास का नया फ़ीचर जोड़ा गया है जो ज्यादा और हाल ही में इस्तेमाल किए गए ऐप को ऐप्स फोल्डर में रखता है। इससे किसी ऐप को इस्तेमाल करने के समय खो़ज़ने में लगने वाला समय बच जाता है। क्विक सेटिंग पैनल भी पुराने एनिमेशन के साथ पुराना ही लगता है लेकिन यूज़र यहां टॉगल कर इसे दोबार अरेंज कर सकते हैं।

यह स्मार्टफोन डिफॉल्ट लॉन्चर+ और ईज़ेड लॉन्चर के साथ आता है। इससे पहले भी इनफोकस के स्मार्टफोन में इन फ़ीचर को हम देख चुके हैं। और पहली बार स्मार्टफोन इस्तेमाल कर रहे यूज़र के लिए यह एक साधारण इंटरफेस उपलब्ध कराता है।

इनफोकस एपिक 1 परफॉर्मेंस
इनफोकस एपिक 1 इस कीमत में सबसे बेहतर परफॉर्म करने वाला डिवाइस है। हमारे रिव्यू के दौरान हमें इस फोन में कोई दिक्कत या कमी देखने को नहीं मिली। हमने देखा कि फोन को इस्तेमाल करने के दौरान भी 1.2 जीबी मेमोरी फ्री थी जिससे फोन की ओवरऑल अच्छा रिस्पॉन्स करता है।

एपिक 1 में भारी-भरकम गेम भी आसानी से खेले जा सकते हैं और मल्टीटास्किंग भी बिना किसी परेशानी के होती है। 4जी ने बेहतर काम किया और कॉल क्वीलिटी भी अच्छी रही। इसके अलावा स्टीरियो स्पीकर से मिलने वाला ऑडियो भी बेहद शानदार है। हमारे रिव्यू के दौरान हमने फोन में गेम खेलते समय और 1080 पिक्सल पर वीडियो रिकॉर्डिंग के दौरान भी ओवरहीटिंग नहीं देखी।

बेंचमार्क की बात करें तो, इनफोकस एपिक 1 आसानी से अपने प्रतिद्वंदियों को पीछे छोड़ देता है। हमें बेंचमार्किंग टेस्ट में फोन से शानदार आंकड़े मिले।
 

फिगंरप्रिंट सेंसर की बात करें तो एपिक 1 इस कीमत वाले दूसरे स्मार्टफोन से थोड़ा कमतर है। और कम से कम दो बार कोशिश करने पर यह फिगंरप्रिंट पहचान पाता है और कई बार यह अजीबोगरीब लगता है।

एपिक 1 में दिया गया 16 मेगापिक्सल का रियर कैमरा तेजी से काम करता है। और कैमरा ऐप भी बिना किसी देरी के लॉन्च हो जाता है। कैमरा इंटरफेस इस्तेमाल करने में आसान है और इस कीमत वाले दूसरे स्मार्टफोन की तुलना में ज्यादा साफ-सुथरा है। इनफोकस ने एपिक वन में पीआईपी मोड लागू दिया है जिससे फ्रंट व रियर कैमरे से एक साथ शूटिंग की जा सकती है।
 

फ्रेम के स्थिर ना रहने पर भी रियर कैमरा फोकस को काफी तेजी से लॉक करता है और हमें यह पसंद आया। इसके लिए स्क्रीन पर टैप करने की जरूरत भी नहीं होती। हालांकि, हमें तस्वीरें क्लिक करने के दौरान कभी-कभी शटर में समस्या देखने को मिली। कुछ तस्वीरें भद्दी भी आती हैं लेकिन ऐसा हमेशा नहीं होता।  

कैमरे से ली गई कुछ तस्वीरों में हमें ज्यादा हाइलाइट दिखी जो निराश करता है। इस कीमत वाले स्मार्टफोन में अक्सर यह समस्या देखने को नहीं मिलती। दिन की रोशनी में लैंडस्केप शॉट में ऑब्जेक्ट में थोड़ा नॉयज़ देखने को मिला हालांकि अधिकतर कलर सटीक थे। आर्टिफिशियल या कम रोशनी में ली गईं तस्वीरें भी बहुत अच्छी नहीं आती। इनमें से अधिकतर शॉट में काफी नॉयज़ देखने को मिला। फोन के फ्रंट कैमरे से शानदार सेल्फी आती हैं।

3000 एमएएच की नॉन-रिमूवेबल बैटरी हमारे वीडियो लूप टेस्ट में 10 घंटे और 40 मिनट तक चली। जो बुरा नहीं है लेकिन इसी सेगमेंट व बैटरी क्षमता वाले फोन ने हमारे रिव्यू में ज्यादा बेहतर परफॉर्म किया। सामान्य और ज्यादा इस्तेमाल के दौरान एपिक 1 एक बार फुल चार्ज होने पर एक दिन तक चल जाता है। फास्ट चार्जिंग सपोर्ट एक अच्छा फ़ीचर है। फोन को 0 से 50 प्रतिशत तक चार्ज होने में 30 मिनट लगते हैं और फोन 2 घंटे में ही फुल चार्ज हो जाता है।

हमारा फैसला
इनफोकस एपिक 1 ने निश्चित तौर पर अपनी परफॉर्मेंस से हमें आकर्षित किया। और इसका श्रेय डेका-कोर हीलियो एक्स20 प्रोसेसर को जाता है। हर रोज किए जाने वाले काम को यह स्मार्टफोन आसानी से कर सकता है और इसी कीमत वाले सभी मौज़ूदा स्मार्टफोन से ज्यादा दमदार है। लेकिन, एपिक 1 औसत बैटरी लाइफ और कैमरा परफॉर्मेंस व इंटरफेस की वजह से एक ओवरऑल पैकेज नहीं है।

अगर आप एक दमदार स्मार्टफोन खरीदने की सोच रहे हैं तो इनफोकस एपिक 1 एक सही विकल्प है। इसके अलावा आप शाओमी रेडमी नोट 3 (रिव्यू) और मोटो जी4 प्लस (रिव्यू) भी खरीद सकते हैं। हाल ही में हमारे रिव्यू में इन स्मार्टफोन ने शानदार रेटिंग प्राप्त हुई।
  • डिज़ाइन
  • डिस्प्ले
  • सॉफ्टवेयर
  • परफॉर्मेंस
  • बैटरी लाइफ
  • कैमरा
  • वैल्यू फॉर मनी

डिस्प्ले

5.50 इंच

बैटरी क्षमता

3000 एमएएच

प्रोसेसर

1.4 गीगाहर्ट्ज़

फ्रंट कैमरा

8 मेगापिक्सल

रिज़ॉल्यूशन

1080x1920 पिक्सल

रैम

3 जीबी

ओएस

एंड्रॉ़यड 6.0

स्टोरेज

32 जीबी

रियर कैमरा

16 मेगापिक्सल
केतन प्रताप गैजेट्स 360 के लिए केतन प्रताप ख़बरों के खिलाड़ी हैं। केतन ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन से अंग्रेजी पत्रकारिता की पढ़ाई ... और भी »

संबंधित ख़बरें

 
 
 

Advertisement

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।