हॉनर 8 का रिव्यू

 
हॉनर 8 का रिव्यू

ख़ास बातें

  • हॉनर 8 में शानदार तस्वीरों के लिए 12 मेगापिक्सल कैमरा दिया गया है
  • फोन की बनावट, बैटरी लाइफ और ओवरऑल परफॉर्मेंस खासी अच्छी है
  • हॉनर 8 की कीमत 29,999 रुपये है
हॉनर ने पिछले काफी समय में अच्छे बजट स्मार्टफोन पेश किए हैं। लेकिन इनमें से कोई भी पिछले साल के हॉनर 7 (रिव्यू) की तरह पहचान नहीं बना सकता। बैटरी को छोड़ दें तो यह शानदार परफॉर्मेंस व बनावट वाला फोन साबित हुआ।

एक साल बाद, कंपनी ने अब इसका अपग्रेडेड वेरिएट हॉनर 8 लॉन्च किया है। पिछले फोन की तरह ही नया हैंडसेट भी अपर मिड-रेंज सेगमेंट में अपनी जगह बनाता है। जिससे यह फोन वनप्लस 3 (रिव्यू) और असूस ज़ेनफोन 3 (ज़ेडई553केएल)  को टक्कर देगा।

अभी इस प्राइस सेगमेंट में वनप्लस 3 ही हमारा सुझाव बना हुआ है। लेकिन क्या हॉनर 8 हमारी इस सोच को बदल पाएगा? क्या कागजों पर दिखने वाले आकर्षक फ़ीचर व स्पेसिफिकेशन के साथ यह फोन तारीफ बटोरने में सफल रहेगा? जानें हमारे रिव्यू में इस फोन की खूबियां व कमियां।


डिज़ाइन व बनावट
हॉनर ने अपना डिज़ाइन पूरी तरह से बदल दिया है और नया हैंडसेट आकर्षक लगता है। इस फोन में सैमसंग की ए सीरीज़ के 2016 वेरिएंट की झलक दिखती है। फोन में खूबसूरती के लिए दो कर्व्ड ग्लास की शीट के बीच एक मेटल फ्रेम दिया गया है। इस लुक के साथ हॉनर 8 पूरी तरह से प्रीमियम लुक देता है लेकिन इस पर पड़ने वाले उंगलियों के निशान बेहद खराब लगते हैं। अगर आप ध्यान ना रखें तो फोन के हाथ से फिसलने का डर भी रहता है।
 

हॉनर 8 में 5.2 इंच डिस्प्ले है और फुल एचडी रिज़ॉल्यूशन के चलते टेक्स्ट खासा शार्प दिखता है। हॉनर 8 के डिस्प्ले पैनल की क्वालिटी अच्छी है और इस पर रंग भी अच्छे दिखते हैं। व्यूइंग एंगल अच्छा है और सूरज की रोशनी में फोन को इस्तेमाल करना आसान है। सेटिंग ऐप में जाकर कलर टेम्परेचर और एक ब्लू लाइट फिल्टर को टॉगल कर सकते हैं। डिस्प्ले के किनारे पर दिए गए पतले बॉर्डर से फोन एक हाथ से इस्तेमाल करने में आसान रहता है। 153 ग्राम के वज़न के साथ यह एक हल्का फोन है।

फोन में दिए गए बटन इस्तेमाल करने में आसान हैं। ईयरपीस ग्रिल में एक छिपी हुई नोटिफिकेशन एलईडी भी है, ऊपर की तरफ एक इंफ्रारेड एमीटर, नीचे की तरफ एक यूएसबी टाइप-सी पोर्ट और बायीं तरफ एक सिम व एक माइक्रोएसडी कार्ड ट्रे (128 जीबी तक) है। हालांकि सिम स्लॉट में दूसरी नैनो सिम के लिए एक कटआउट बना है लेकिन फोन इसे रिकगनाइज़ नहीं करता।
 

फोन के रियर पर डुअल कैमरा, लेज़र ऑटोफोकस सेंसर और एक डुअल टोन एलईडी फ्लैश है। फिंगरप्रिंट सेंसर काफी सेंसिटिवि है और यह फोन को तेजी से अनलॉक कर देता है। इसके अलावा फिगंरप्रिंट सेंसर को ऐप लॉक करने, हिडन फाइल को एक्सेस करने और किसी कॉल का जवाब देने के लिए गेस्चर के तौर पर, सेल्फी लेने के लिए व नोटिफिकेशन शेड को देखने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। हॉनर ने एक कदम आगे बढ़ते हुए फिज़िकल बटन के ऊपर सेंसर दिया है जिसे कंपनी ने स्मार्ट की नाम दिया है। इस पर उंगली दबाने के हिसाब से (एक बार, दो बार और देर तक) आप कई फंक्शन जैसे वॉयस रिकॉर्डिंग, फ्लैशलाइट टॉगल करना, स्क्रीनशॉट लेना या कोई ऐप लॉन्च कर सकते हैं।

हॉनर 8 के साथ बॉक्स में एक 18 वाट का चार्जर, डेटा केबल, सिम प्रोजेक्टर टूल और एक दिशा-निर्देश लीफलेट मिलती है।
 

स्पेसिफिकेशन और फ़ीचर
हॉनर ने इस स्मार्टफोन में हुवावे का प्रोसेसर दिया है। किरिन 950 ऑक्टा-कोर प्रोसेसर अधिकतर लोकप्रिय ऐप के लिए बेकार प्रोसेसर है। बेंचमार्क टेस्ट में हमें इस स्मार्टफोन से अच्छे आंकड़े मिले। हालांकि ये आंकड़े स्नैपड्रैगन 820 प्रोसेसर वाले किसी दूसरे स्मार्टफोन से अच्छे हैं। लेकिन वास्तविक इस्तेमाल के समय दोनों फोन में अंतर बताना काफी मुश्किल है।

हॉनर 8 में 4 जीबी रैम है। फोन में 32 जीबी इनबिल्ट स्टोरेज है। इसके अलावा कनेक्टिविटी के लिए डुअल बैंड वाई-फाई बी/जी/एन/एसी, ब्लूटूथ 4.2, यूएसबी ओटीजी और एनएफसी जैसे फ़ीचर दिए गए हैं। इस फोन में एफएम रेडियो नहीं दिया गया है जो कुछ लोगों के लिए निराशाजनक हो सकता है। हॉनर 8 एफडीडी और टीडीडी बैंड के लिए 4जी एलटीई सपोर्ट करता है। अभी भारत में वीओएलटीई सपोर्ट मौज़ूद नहीं है। लेकिन कंपनी का कहना है कि भविष्य में सॉफ्टवेयर अपडेट के जरिए यह फ़ीचर मिलेगा।
 

इस स्मार्टफोन की सबसे बड़ी खासियत है एंड्रॉयड मार्शमैलो पर दी गई कंपनी की कस्टम यूआई। लेटेस्ट वर्जन (4.1) के साथ एंड्रॉयड का नाउ-ऑन-टैप फ़ीचर भी दिया गया है। इसके अलावा कई सारे नए कस्टमाइज़ेशन फ़ीचर भी हैं। यह एक सिंगल लेयर इंटरफेस है जो अपने आइकन, सेटिंग ऐप और नोटिफिकेशन शेड के साथ आता है। ऑनस्क्रीन दिए गए बटन का लेआउट कभी भी बदला जा सकता है जो कि अच्छा है।

'वायरलेस और नेटवर्क' में लिंक+ सेक्शन से बेहतर सिगनल, रोमिंग के दौरान नेटवर्क जल्दी कनेक्ट करना, ऑटो अपडेट इनेबल करना और वाई-फाई+ (वाई-फाई और मोबाइल डेटा के बीच ऑटोमेटिक स्विच करना) जैसे सुधार किए जा सकते हैं।
 

ईएमयूआई में कई गेस्चर आधारित फ़ीचर भी हैं और सेटिंग में जाकर 'स्मार्ट असिस्टेंस' में वॉयस कंट्रोल फ़ीचर भी एक्सेस किया जा सकता है। नेविगेशन बन पर दायीं तरफ स्वैप कर डायल पैड या पूरे डिस्प्ले के लिए सिंगल-हैंडेड मो़ड एक्टिवेट किया जा सकता है। इसके अलावा वॉयस कंट्रोल के जरिए 'व्हेयर आर यू' बोलें तो फोन रिंग, वाइब्रेशन और एलईडी फ्लैश लाइट ऑन कर देगा जिससे आप फोन आसानी से ढूंढ सकते हैं। वॉयस कंट्रोल अच्छे से काम करता है और अधिकतर समय यह हमारी कमांड को पहचानने में सफल रहा।

इसके अलावा फोन में नकल सेंस नाम का एक और गेस्चर फ़ीचर भी है जिससे आप स्क्रीनशॉट ले सकते हैं या अपने हाथों के पोरों से स्क्रीन पर टच करने या कोई सर्किल बनाने से स्क्रीन रिकॉर्ड हो जाती है। पोरों से डिस्प्ले पर टैप करना ठीक है लेकिन हमें सर्किल बनाने के लिए बहुत ज्यादा जोर लगाना पड़ा जो काफी अजीब है। इसके अलावा सामान्य कामों के लिए फ्लोटिंग डॉक है जो मीआईयूआई की क्विक बॉल जैसी ही है।

हॉनर 8 में बहुत सारे ऐप प्री-इंस्टॉल नहीं आते। लेकिन आपको फोन में गूगल ऐप सूट, स्मार्ट कंट्रोलर मिल जाएंगे जो आईआर अप्लायंसेज के साथ बेसिक फंक्शन के लिए अच्छे से काम करते हैं।
 

परफॉर्मेंस और बैटरी लाइफ
हॉनर 8 में मल्टीटास्किंग बेहद आसानी से की जा सकती है। फोन में मोर्टल कॉम्बेट एक्स वर्क जैसा लोकप्रिय गेम भी आसानी से चलता है। हमे फोन में किसी तरह की गर्माहट की समस्या नहीं हुई। लेकिन हमारी रिव्यू यूनिट में हमें कैमरा इस्तेमाल करते समय फोन के काफी गर्म होने की दिक्कत पेश आई। हॉनर का कहना है कि यह अकेली ऐसी घटना है क्योंकि यह एक प्रीप्रोडक्शन यूनिट थी और रिटेल डिवाइस सामान्य काम करेगी।

इस फोन में डिस्प्ले और हाई-रिज़ॉल्यूशन वाली वीडियो फाइल (4के सहित) के लिए सपोर्च के चलते मीडिया प्लेबैक का अनुभव बेहद अच्छा रहता है। स्टॉक म्यूज़िक और वीडियो प्लेयर का डिज़ाइन स्लीक है और यह डीटीएस ऑडियो (सिर्फ हेडफोन के लिए) सपोर्ट करता है। नीचे की तरफ दिया गया मोनो स्पीकर काफी तेज आवाज़ करता है लेकिन यूट्यूब जैसे ऐप इस्तेमाल करते समय यह कमजोर लगता है। हेडफोन से मिलने वाली ऑडियो क्वालिटी अच्छी है लेकिन आवाज़ और बेहतर हो सकती थी।
 

कंपनी हॉनर 8 के जिस स्मार्टफोन को सबसे खास फ़ीचर के तौर पर पेश कर रही है वो है इसका डुअल कैमरा। डुअल कैमरे में में 12 मेगापिक्सल कलर और मोनोक्रोम सेंसर है। रियर कैमरे में एफ/2.2 अपर्चर है जबकि 8 मेगापिक्सल वाला कैमरा अपर्चर एफ/2.4 के साथ आता है। लैंडस्केप और मैक्रो तस्वीरें अच्छी डिटेल के साथ आती हैं व प्राकृतिक रोशनी में कलर भी अच्छे आते हैं। कैमरे से अच्छा बैकग्राउंड धुंधला हो जाता है लेकिन वाइड अपर्चर मोड के साथ इसे बेहतर किया जा सकता है। इसके अलावा धुंधले बैकग्राउंड को फोकस के पास दिए एक स्लाइड का इस्तेमाल कर एडजस्ट किया जा सकता है। कम रोशनी में ली गईं तस्वीरों में डिटेलिंग की कमी दिखती है लेकिन फिर भी क्वालिटी ठीकठाक रहती है।
 

कैमरा ऐप में दिए गए फ़ीचर आसानी से कंट्रोल किए जा सकते हैं और कैमरा ऐप को इस्तेमाल करने की जल्द आदत पड़ जाती है। वीडियो व तस्वीरों के लिए प्री मोड मौज़ूद है। एचडीआर, पैनोरमा, स्लो मोशन, लाइट पेंटिंग (स्लो शटर), टाइम लैप्स और ब्यूटी जैसे कंट्रोल दिए गए हैं। रिकॉर्ड की गई वीडियो क्वालिटी भी अच्छी है। वीडियो को 60 फ्रेम प्रति सेकेंड पर 1080 पिक्सल के अधिकतम रिज़ॉल्यूशन पर रिकॉर्ड किया जा सकता है। लेकिन फोन से 4के वीडियो रिकॉर्डिंग नहीं की जा सकती। हमें फ्रंट कैमरे से ली जाने वाली क्वालिटी हमें अच्छी लगी जिससे कम रोशनी में भी अच्छी डिटेल के साथ तस्वीरें आती हैं।

हॉनर 8 में 3000 एमएएच की नॉन-रिमूवेबल बैटरी है जो फास्ट चार्जिंग को सपोर्ट करती है। फोन के साथ आने वाले एडेप्टर और केबल के इस्तेमाल से हम आधे घंटे मे ही 45 प्रतिशत तक बैटरी चार्ज कर सके। फोन को एक बार चार्ज करने पर हम इसे आसानी से पूरे दिन तक चला सके। हमारे वीडियो लूप टेस्ट में बैटरी 11 घंटे 7 मिनट तक चली। आरओजी पावर सेविंग मोड हमें खासा काम का लगा। इसे एक्टिव करने पर डिस्प्ले 720 पिक्सल पर आ जाती है जिससे बैटरी खपत कम होती है।
 

हमारा फैसला
अगर आपने हमारा पूरा रिव्यू पढ़ा है तो यह स्पष्ट है कि हॉनर 8 उतना ही अच्छा हैंडसेट है जितना कि यह कागजों पर आकर्षित करता है। इसमें कुछ कमियां हैं जैसे वीओएलटीई सपोर्ट का ना होना (अभी के लिए), एफएम रेडियो का अभाव, फिसलने वाली बॉडी और कम रोशनी में खराब कैमरा परफॉर्मेंस।  

बात करें कीमत की तो, 29,999 रुपये थोड़ा ज्यादा है। क्योंकि वनप्लस 3 और असूस ज़ेनफोन 3 इससे कम कीमत में ज्यादा बेहतर फोन हैं। लेकिन अधिकतर दूसरे स्मार्टफोन की तरह ही हमें उम्मीद है कि लॉन्च के समय की कीमतों के बाद इनमें थोड़ी गिरावट हो सकती है।

हॉनर 8 कुल मिलाकर हर तरह से एक शानदार ऑल-राउंडर है। और अगर आप कुछ अलग खोज रहे हैं तो वनप्लस 3 व ज़ेनफोन 3 से ज्यादा बेहतर है। इसमें दमदार प्रोसेसर, काम के सॉफ्टवेयर ट्रिक, बेहद अच्छा डिस्प्ले, क्षमतावान कैमरे और पूरे दिन तक चलने वाली बैटरी जैसी कई खूबियां हैं।
  • डिज़ाइन
  • डिस्प्ले
  • सॉफ्टवेयर
  • परफॉर्मेंस
  • बैटरी लाइफ
  • कैमरा
  • वैल्यू फॉर मनी

डिस्प्ले

5.20 इंच

बैटरी क्षमता

3000 एमएएच

प्रोसेसर

1.8 गीगाहर्ट्ज़ ऑक्टा-कोर

फ्रंट कैमरा

8 मेगापिक्सल

रिज़ॉल्यूशन

1080x1920 पिक्सल

रैम

4 जीबी

ओएस

एंड्रॉ़यड 6.0

स्टोरेज

32 जीबी

रियर कैमरा

12 मेगापिक्सल
लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।
Xiaomi Mi Max Prime
रॉयडन सरेजो रॉयडन सरेजो ज़ुबान से फिट होने का शौक रखते हैं। टेक की दुनिया का सब कुछ पसंद है। और कंप्यूटर पार्ट्स की जमखोरी की आदत से धीरे-धीरे ... और भी »
 
 
 

Advertisement

Xiaomi Mi Max Prime