जियोनी ए1 का रिव्यू

 
जियोनी ए1 का रिव्यू

ख़ास बातें

  • जियोनी ए1 की कीमत 19,999 रुपये है
  • इस फोन में 16 मेगापिक्सल का रियर कैमरा व 4010 एमएएच की बैटरी है
  • गैज़ेट्स 360 ने इस फोन को 10 में से 7 रेटिंग दी है
जियोनी उन चीनी स्मार्टफोन निर्माताओं में से एक है जिसने भारत में ऑनलाइन रिटेल से ज़्यादा ऑफलाइन मार्केटिंग पर ध्यान दिया है। हाल ही में आयोजित हुए एक इवेंट में कंपनी ने बताया कि इतने सालों में ऑफलाइन चैनल के जरिए कंपनी की स्थिति मज़बूत हुई है जबकि दूसरे ब्रांड ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर प्रतिद्वंदिता कर रहे हैं। जियोनी के लिए जिस चीज़ ने सबसे ज़्यादा काम किया, वो है अलग-अलग प्राइस सेगमेंट में आने वाले कंपनी के प्रोडक्ट। ख़ास बात है कि, जियोनी ने इस सेगमेंट में सेल्फी के शौकीन लोगों के लिए भी स्मार्टफोन पेश किए हैं। और कंपनी के लेटेस्ट एडिशन में भी यही ख़ूबियां हैं।

जियोनी ने अपनी नई ए-सीरीज़ में ए1 और ए1 प्लस स्मार्टफोन पिछले महीने आयोजित हुए एमडब्ल्यूसी 2017 ट्रेड शो में लॉन्च किए। ज़्यादा इंतज़ार किए बिना, जियोनी ए1 को भारत में लॉन्च कर दिया गया है। इस स्मार्टफोन में 16 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा और बड़ी बैटरी है। फोन एंड्रॉयड 7.0 आधारित एमिगो ओएस पर चलता है। हालांकि, इस फोन को उस कैटेगरी में लॉन्च किया गया है जहां समान स्पेसिफिकेशन वाले दूसरे स्मार्टफोन भी फिट बैठते हैं।

क्या जियोनी ए1 इस कीमत में आने वाले अपने प्रतिद्वंदी स्मार्टफोन को टक्कर दे पाएगा? रिव्यू में जानें फोन की सारी कमियां व ख़ूबियां।

जियोनी ए1 डिज़ाइन
भारत में बेचे जा रहे अधिकतर स्मार्टफोन, यहां तक कि बजट सेगमेंट में भी अब मेटल बॉडी एक स्टैंडर्ड फ़ीचर बन गया है और यह अच्छी बात है। मेटल जहां फोन को मजबूत बनाती है वहीं प्रीमियम अहसास भी देती है। जियोनी ए1 में ए6000 एयरक्राफ्ट-ग्रेड मटेरियल का इस्तेमाल किया गया है और कंपनी का दावा है कि इसका इस्तेमाल कार और प्लेन बनाने में किया जाता है। डिवाइस के घुमावदार किनारे और रियर भी इसे देखने में आकर्षक बनाते हैं। फोन के अगले हिस्से पर ग्लास का कब्ज़ा है। फोन हाथ में आसानी से फिट बैठता है।
 
gionee

फोन के होम बटन में एक फिंगरप्रिंट सेंसर को इंटीग्रेट किया गया है। इसके साथ ही एक कैपेसिटिव रियर और रीसेंट बटन भी है। दांयीं तरफ एक वॉल्यूम व पावर बटन है। जियोनी ने पावर बटन में एक रेडिश टोन दी है जो कि अनोखी लगती है। स्क्रीन के ठीक ऊपर एक फ्रंट कैमरा है और एक एलईडी फ्लैश भी है, जिसे जियोनी ने 'सेल्फी फ्लैश' कहा है। माइक्रो-यूएसबी चार्जिंग पोर्ट और स्पीकर नीचे की तरफ़ हैं जबकि 3.5 एमएम ऑडियो जैक ऊपर की तरफ़ हैं।

जियोनी ए1 का रियर जाना पहचाना लगता है, क्योंकि हाल ही में आए कई स्मार्टफोन का रियर भी ऐसा ही देखा गया है। ऊपर व नीचे एंटीना लाइन हैं। इससे पहले शाओमी रेडमी नोट 4 (रिव्यू) में भी इस तरह की एंटीना लाइन देखीं गईं, जो कि जिोनी ए1 से कम कीमत पर मिलता है। कैमरा बाहर की तरफ़ थोड़ा सा उभरा हुआ है, लेकिन यह मोटो जी5 प्लस (रिव्यू) की तरह नहीं है। प्राइमरी कैमरे के नीचे एक डुअल-एलईडी फ्लैश और जियोनी का लोगो है। लोगो को एक सर्किल में फिट किया गया है। और यह एक फिंगरप्रिंट रीडर की तरह लगगता है। हमने पहले रियर पर दिए लोगो पर ही अपनी उंगलियों को टच किया, क्योंकि हम फिंगरप्रिंट की इस जगह के आदी हो चुके हैं। रियर पर नीचे की तरफ एक जियोनी लिखा हुआ है।

183 ग्राम वज़न के साथ जियोनी ए1 थोड़ा सा भारी लगता है क्योंकि इसका स्क्रीन साइज़ भी बहुत बड़ा नहीं है। मेटल बॉडी वाले रेडमी नोट 4  में 4100 एमएएच की बैटरी है और इसका वज़न सिर्फ 165 ग्राम है। सैमसंग गैलेक्सी जे7 प्राइम (167 ग्राम) और मोटो एम (163 ग्राम) भी इसी कैटेगरी में आते हैं और इनका वज़न जियोनी ए1 से कम है।

जियोनी ए1 के साथ एक चार्जर, एक माइक्रो-यूएसी केबल, ईयरफोन, एक पारदर्शी बैक कवर, एक निर्देश-पुस्तिका और एक सिम इजेक्टर टूल मिलता है। कुल मिलाकर, हमें फोन का डिज़ाइन पसंद आया। लेकिन अगर इसका वज़न कम होता तो इस्तेमाल करने में ज़्यादा सुविधाजनक हो सकता था।

जियोनी ए1 स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेर
जियोनी ए1 में एक ऑक्टा-कोर मीडियाटेक हीलियो पी10 (एमटी6755) प्रोसेसर है जो 2 गीगाहर्ट्ज़ पर चलता है। फोन में 4 जीबी रैम है। इस स्मार्टफोन में 64 जीबी इनबिल्ट स्टोरेज है जिसे 256 जीबी तक बढ़ाया जा सकता है। यह एक हाइब्रिड डुअल-सिम फोन है। दोनों सिम पर 4जी सपोर्ट मिलता है लेकिन एक बार मे सिर्फ एक ही स्लॉट पर। इसके अलावा वीओएलटीई, वाई-फाई, ब्लूटूथ 4.0 और यूएसबी ओटीजी जैसे फ़ीचर भी मिलते हैं।
 
gionee

इस हैंडसेट में 4010 एमएएच की बैटरी है जिसे लेकर कंपनी ने दो दिन तक चलने का दावा किया है। जियोनी ए1 फास्ट चार्जिंग के साथ आता है जो कि एक अच्छा फ़ीचर है।

जियोनी ए1 में 5.5 इंच फुल एचडी (1080x1920 पिक्सल) डिस्प्ले है। हमारी राय में यह इस कीमत में मिलने वाला सबसे बेहतर डिस्प्ले में से एक है। डिस्प्ले काफ़ी चमकदार है और इसे सूरज की रोशनी में भी पढ़ा जा सकता है। कलर अच्छे से प्रोड्यूस होते हैं। टेक्स्ट और तस्वीरें क्रिस्प दिखते हैं। वीडियो देखते समय व्यूइंग एंगल से परेशानी नहीं होती है। हालांकि, फोन के अगले हिस्सा जैसे कि किसी चुम्बक की तरह है और रिव्यू पीरियड के दौरान हमें फोन के स्क्रीन को बार-बार साफ करना पड़ा।

यह हैंडसेट एंड्रॉयड 7.0 नूगा आधारित एमिगो 4.0 ओएस पर चलता है। जियोनी का अपना एमिगो ओएस काफी अपडेट हुआ है और पहले से अच्छा दिखता है। इसमें कई नूगा फ़ीचर भी हैं। यूज़र को स्पिलिट स्क्रीन मोड से कई अलग-अलग ऐप को एक साथ चलाने का मौका मिलेगा। सेटिंग ऐप भी नया है, हालांकि ऊपरी बांयें कोने में कोई मेन्यू बटन नहीं है।
 
gionee

जियोनी ने फोन में स्मार्ट जेस्चर जैसे कुछ फ़ीचर भी दिए हैं। स्मार्ट वाइब्रेशन से आपको मिस्ड कॉल और मैसेज का पता चलता  है जब फोन में स्टैंडबाय मोड पर हो। और डबल टैप करने पर ही फोन एक्टिव हो जाता है, चाहें पावर बटन आपकी पहुंच में ना हो। फोन में अपने पसंदीदा ऐप के शॉर्टकट के लिए एक एज बार फ़ीचर भी है, जिसे होम बटन पर दांयीं या बांयी तरफ़ स्वाइप करने पर एक्टिव किया जा सकता है। फोन में एमिगो ओएएस में पहले की तरह ही कई सारे जियोनी के ऐप पहले से इंस्टॉल आते हैं और इनसे छुटकारा पाने का भी कोई तरीका नहीं है। थीम पार्क और मूड वॉलपेपर ऐप से यूआई का लुक बदलने का विकल्प मिलता है। नए ऐप, गेम और वीडियो के लिए फोन में एक जी स्टोर ऐप है। इसके अलावा अमेज़न, ज़ेंडर, होटोडे, मैसेंजर, सावन, स्विफ्टकी कीबोर्ड और ट्रूकॉलर प्लस, एसफाल्ट नाइट्रो, बबल बैश 3, डेंजर डैश और रियर फुटबॉल पहले से इंस्टॉल आते हैं।

जियोनी ए1 कैमरा
जियोनी ए1 को बाज़ार में एक सेल्फी स्मार्टफोन के तौर पर पेश किया गया है, इसलिए शुरुआत इसी से करते हैं। इस फोन में ऑटोफोकस और एक एलईडी फ्लैश के साथ 16 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा है। कैमरा ऐप में लाइव फिल्टर जैसे स्मूदनिंग, व्हाइटनिंग, स्लिमिंग और आई एनलार्जिंग फ़ीचर  भी हैं जिससे तस्वीरों को लेने के बाद और ख़ूबसूरत बनाया जा सकता है। सेल्फी वाइब्रेट और डिटेलिंग के साथ आती हैं। अधिकतर समय सेल्फी शानदार रहती हैं, हालांकि हमने तस्वीरों में जरूरत से ज़्यादा कलर टोन देखी जो कि आर्टिफिशियल लगती है। रेगुलर सेल्फी से आने वाली सेल्फी, एचडीआर सेल्फी बेहतर रहती है। कम रोशनी में आने वालीं तस्वीरें भी अच्छी रहती हैं और फ्रंट कैमरे से आने वाली तस्वीरों की क्वालिटी सीमत रोशनी में अच्छी दिखती हैं। कंपनी के दावे के मुताबिक, सेल्फी फ्लैश फ़ीचर काम करता है।

जियोनी ए1 में दिया गया 13 मेगापिक्सल का रियर कैमरा, एक डुअल-एलईडी फ्लैश और अपर्चर एफ 2.0 के साथ आता है। इसमें सोनी आईएमएक्स258 सेंसर का इस्तेमाल किया गया है। कैमरा ऐप में कई सारे मोड जैसे नाइट, प्रोफेशनल, टाइम-लैप्स, स्लो-मोशन, स्मार्ट सीन और जिफ़ हैं। जियोनी ए1 के कैमरा ऐप में एक ट्रांसलेशन फ़ीचर है। रियर कैमरे से 1080 पिक्सल और 720 पिक्सल तक की वीडियो रिकॉर्डिंग की जा सकती है और क्वालिटी शानदार रहती है।
 
gionee
gionee
gionee
gionee

रियर कैमरे से आने वाली तस्वीरों के कलर अच्छे रहते हैं लेकिन ये तस्वीरें ओवरसैचुरेटेड लगती हैं। कैमरे को फोकस करने में भी थोड़ा समय लगता है। रात में ली गईं तस्वीरों की क्वालिटी अच्छी रही। हालांकि, इन्हें फुल साइज़ में ज़ूम करने पर हमें थोड़ा नॉयज़ और मोशन ब्लर दिखा। कुल मिलाकर, जियोनी ए1 का फ्रंट व रियर कैमरा शानदार काम करता है। हालांकि, हमें लगता है कि इसे थोड़ा और बेहतर करने की जरूरत है क्योंकि इसकी अहम ख़ासियत फोटोग्राफी ही है।

जियोनी ए1 परफॉर्मेंस
जियोनी ए1 परफॉर्मेंस के मामले में आपको निराश नहीं करेगा और ऑक्टा-कोर प्रोसेसर अधिकतर काम ठीक तरह से करता है। हैंडसेट में 4 जीबी रैम है और हमारे रिव्यू के दौरान हमने पाया कि अधिकतर समय 1.8 जीबी रैम खाली रहती है। जियोनी ए1 का फिंगरप्रिंट सेंसर बेहद अच्छी तरह काम करता है।

ऐसफाल्ट 8: एयरबोर्न और डेड इफेक्ट 2 जैसे गेम हमने बिना किसी परेशानी के खेले। और हमें गेम खेलते या ऐप चलाते समय कोई परेशानी नहीं हुई। 5.5 इंच स्क्रीन मूवी और वीडियो देखने के लिए अच्छी है। और हमारी टेस्ट यूनिट पर शो स्ट्रीम करना हमें अच्छा लगा।

जियोनी ए1 के अधिकतर समय गर्म हो जाने से हमें निराशा हुई। 30 मिनट तक गेम खेलने के बाद ही, इसे पकड़ना असुविधाजनक लगा। नेविगेशन के लिए जीपीएस इस्तेमाल और कैमरा ऐप व देर तक फोन पर बात करते समय भी फोन गर्म हो जाता है। कई बार गर्म होने के बाद, हमारी यूनिट अपने आप ही रीस्टार्ट हो गई। और इस कीमत में आाने वाले फोन से ऐसी उम्मीद नहीं की जाती है। इस समस्या ने फोन के साथ हुए हमारे पूरे अनुभव को ख़राब कर दिया।

जियोनी ए1 मैक्सऑडियो एनहेंसमेंट के साथ आता है जिससे स्पीकर से आने वाली आवाज़ के साथ-साथ ईयरफोन की आवाज़ को भी सुधारने का दावा किया गया है। ऊंचे वॉल्यूम के साथ, जियोनी ए1 निराश नहीं करता फोन के साथ आने वाले ईयरफोन अच्छे हैं। कॉल क्वालिटी भी शानदार रहती है और हमें वॉयस क्वालिटी में कोई समस्या नहीं हुई। धीमी कनेक्टिविटी और कमजोर वाई-फाई सिग्नल वाले क्षेत्रों में भी हमें स्मार्टफोन के नेटवर्क जोड़ने की क्षमता ने प्रभावित किया।

बेंचमार्क टेस्ट में भी जियोनी ए1 ने बेहतरीन स्कोर किया। लेकिन इस कीमत के साथ हमने दूसरे स्मार्टफोन में जियोनी ए1 से बेहतर स्कोर भी देखा है।
 
gionee

जियोनी ए1 की बैटरी परफॉर्मेंस निराश नहीं करती और यह फोन की सबसे बड़ी ख़ासियतों में से एक है। हैंडसेट में 4010 एमएएच की नॉन-रिमूवेबल बैटरी है और यह फास्ट चार्जिंग सपोर्ट करती है। 20 मिनट की चार्जिंग में 40 प्रतिशत तक की बैटरी मिल जाती है और 2 घंटे से भी कम समय में फोन 100 प्रतिशत तक चार्ज हो जाता है। हमारे एचडी वीडियो लूप टेस्ट में फोन की बैटरी 14 घंटे और 45 मिनट तक चली। वहीं सामान्य इस्तेमाल के समय फोन की बैटरी 36 घंटे से भी ज्यादा वक्त तक चली। वहीं थोड़ा कम इस्तेमाल के साथ फोन की बैटरी 45-48 घंटे तक चलने के बाद भी, 20 प्रतिशत तक बची रही।

हमारा फैसला
जियोनी ए1 इस कीमत में एक अच्छा विकल्प है और इसकी शानदार बनावट व डिज़ाइन ने हमारा दिल जीत लिया। बैटरी परफॉर्मेंस बेहद शानदार है और कैमरा क्वालिटी भी अच्छी है। फोन का गर्म हो जाना सबसे बड़ी समस्या है और ग्राहकों को फोन को इस्तेमाल करते समय इस समस्या को झेलना पड़ेगा जोकि थोड़ा असुविधाजनक है। फोन एंड्रॉयड 7.0 नूगा पर चलता है जिससे इसे हमसे थोड़े ज़्यादा नंबर मिलते हैं लेकिन सॉफ्टवेयर निराश करता है।

जियोनी ए1 की बिक्री अमेज़न इंडिया और ऑफलाइन रिटेल स्टोर पर होगी। कंपनी ने 31 मार्च से जियोनी ए1 के लिए प्री-ऑर्डर लेना शुरू कर दिए हैं। और हर बुकिंग पर कंपनी, दो साल की वारंटी के साथ जेबीएल हेडफोनो या स्विस मिलिट्री ब्लूटूथ स्पीकर मुफ्त दे रही है।

हाल ही में लॉन्च हुए कई स्मार्टफोन को ख़ासतौर पर सेल्फी के शौकीनों के लिए बनाया गया है। और जियोनी ए1 इसी लिस्ट में एक और नाम है। इस फोन को वीवो वी5 प्लस (रिव्यू) से चुनौती मिलेगी जिसकी कीमत 27,980 रुपये है। वहीं 17,990 रुपये की कम कीमत में आने वाला ओप्पो एफ1एस (रिव्यू) भी टक्कर देगा। दूसरे प्रतिद्वंदियों में मोटो एम और सैमसंग गैलेक्सी जे7 प्राइम (रिव्यू) भी शामिल हैं, जो 20,000 रुपये से कम में आते हैं।
  • डिज़ाइन
  • डिस्प्ले
  • सॉफ्टवेयर
  • परफॉर्मेंस
  • बैटरी लाइफ
  • कैमरा
  • वैल्यू फॉर मनी

डिस्प्ले

5.50 इंच

बैटरी क्षमता

4010 एमएएच

प्रोसेसर

2 गीगाहर्ट्ज़ ऑक्टा-कोर

फ्रंट कैमरा

16 मेगापिक्सल

रिज़ॉल्यूशन

1080x1920 पिक्सल

रैम

4 जीबी

ओएस

एंड्रॉ़यड 7.0

स्टोरेज

64 जीबी

रियर कैमरा

13 मेगापिक्सल
केतन प्रताप गैजेट्स 360 के लिए केतन प्रताप ख़बरों के खिलाड़ी हैं। केतन ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन से अंग्रेजी पत्रकारिता की पढ़ाई ... और भी »
 
लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।