Freedom 251 की डिलिवरी दोबारा हो सकती है शुरू, अगर...

 
Freedom 251 की डिलिवरी दोबारा हो सकती है शुरू, अगर...

ख़ास बातें

  • फ्रीडम 251 की डिलिवरी दोबारा संभव, रिंगिंग बेल्स का बयान
  • मोहित गोयल ने कहा कि सरकार मदद करे तो संभव है फोन की दोबारा डिलिवरी
  • फरवरी 2016 में लॉन्च हुआ था फ्रीडम 251
विवादास्पद फ्रीडम 251 के निर्माता मोहित गोयल ने पिछले साल ख़ूब सुर्खियां बटोरीं। रविवार को एक बार फिर, मोहित गोयल ने कहा कि अगर सरकार उन्हें सहयोग देती है तो वो अब भी अगले साल मार्च-अप्रैल तक Freedom 251 स्मार्टफोन की डिलिवरी कर सकते हैं।

रविवार को पुलिस ने मोहित गोयल के बाद दो और लोगों को गिरफ्तार किया। मोहित गोयल, पिछले साल दुनिया का सबसे सस्ता स्मार्टफोन लॉन्च करने वाली नोएडा की कंपनी रिंगिंग बेल्स के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। गोयल ने इन दोनों लोगों के खिलाफ़ एफआईआर दर्ज कराई है। उनका कहना है कि कंपनी द्वारा एडवांस भुगतान के बावज़ूद उन्होंने "Freedom 251" की डिलिवरी नहीं की।

नोएडा के एसपी, सिटी अरुण कुमार सिंह ने आईएएनएस को बताया कि, 35 वर्षीय विकास शर्मा और 40 वर्षीय जीतू, दोनों ही दिल्ली में रहते हैं। इन पर आरोप है कि रिंगिंग बेल्स को हैंडसेट डिलिवर करने के लिए इन्होंने 3.5 करोड़ रुपये लिए। इन दोनों को डासना जेल भेज दिया गया है।

समाचार एजेंसी आईएएनएस से फोन पर गोयल ने कहा, ''मैंने इन दोनों को करीब 3.5 करोड़ रुपये दिए और इन्होंने मुझे धोखा दिया। उन्होंने मेरे पैसे गायब कर दिए और कोई फोन डिलिवर नहीं किया। इसी साल फरवरी में कुछ डिस्ट्रीब्यूटर ने मेरे खिलाफ केस दर्ज करवाया और मुझे छह महीने के लिए जेल भेज दिया गया। अब इन दोनों की गिरफ्तारी के बाद, लोगों को पता चलेगा कि मैं हैंडसेट डिलिवर करने का अपना वादा पूरा क्यों नहीं कर सका।''

गोयल ने कहा कि 'Make in India' और 'Start-up India' जैसी मुहिम के तहत हर भारतीय को स्मार्टफोन देने की प्रतिबद्धता के बावज़ूद सरकार ने मुझे किसी तरह का कोई सहयोग नहीं किया।

उन्होंने कहा कि, ''आज बड़ी स्मार्टफोन कंपनियां मेरे मॉडल पर चल पड़ी हैं और कार्बन जैसी कंपनियां 1,300 रुपये तक में स्मार्टफोन ऑफर कर रही हैं। जियो द्वारा 1,500 रुपये सिक्योरिटी देकर फोन देने का आइडिया भी इसी तरह का है। उनके पास बहुत पैसा है इसलिए उनके लिए ऐसा करना संभव है। लेकिन लोग उनसे ये क्यों नहीं पूछते कि वे इतने सस्ते स्मार्टफोन बना कैसे रही हैं?''

गोयल ने आगे कहा, ''मेरे सप्लायर ने समय पर डिलिवरी नहीं की और मैं कामयाब नहीं हुआ। हमारी कंपनी के अध्यक्ष अशोक चड्डा अभी भी जेल में हैं। मुझे सफल वापसी के लिए एक मौके की जरूरत है और मैं अगले मार्च-अप्रैल तक लोगों को हैंडसेट दे दूंगा।'' उनका कहना है कि अभी वो किसी और चीज की योजना नहीं बना रहे हैं लेकिन उनका ध्यान अपने "Freedom 251" सपने को पूरा करना है।

2016, फरवरी में कंपनी ने 30 जून तक 25 लाख हैंडसेट डिलिवर करने की योजना बनाई थी। रिंगिंग बेल्स को 7 करोड़ से ज़्यादा रजिस्ट्रेशन मिले और इसके बाद कंपनी का पेमेंट गेटवे क्रैश रहो गया ।

दुनिया के सबसे सस्ते स्मार्टफोन, दुनिया भर की सुर्खियों में छा गया। और लगभग हर बड़े मीडिया हाउस ने इस 'चमत्कारिक डिवाइस' के बारे में ख़बरें छापीं।

जुलाई को पिछले साल कंपनी ने 5,000 फ्रीडम 251 स्मार्टफोन डिलिवर करने का ऐलान किया था। रिंगिंग बेल्स ने कहा था कि कंपनी कैश ऑन डिलिवरी  के जरिए डिवाइस को बुक करने वाले 65,000 और ग्राहकों को भी फोन डिलिवर करेगी। लेकिन इसके बाद किसी तरह की डिलिवरी के आंकड़े सामने नहीं आए।

इस साल फरवरी में गोयल के खिलाफ़ गाज़ियायबेद के डिस्ट्रीब्यूटर अयाम एंटरप्राइज़ ने एफआईआर दर्ज करवाई और इसके बाद गोयल को गिरफ्तार कर लिया गया। रिंगिंग बेल्स पर 16 लाख रुपये की धोखाधड़ी का आरोप लगा। इसके बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गोयल को जमानत दे दी। अदालत ने बताया कि इस केस में दोनों पार्टी के बीच एक समझौता साइन किया गया था।
नैना गुप्ता गैज़ेट्स के बारे में पढ़ने और कॉपी लिखने से फुरसत मिलने के बाद ट्विटर पर समय बिताना पसंद है। घूमने का भी शौक है। खाना बनाने में मज़ा... और भी »

संबंधित ख़बरें

 
लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।