Google Go ऐप लॉन्च, एक ऐप में मिलेंगे यूट्यूब, फेसबुक, इंस्टाग्राम और मैप्स

 
Google Go ऐप लॉन्च, एक ऐप में मिलेंगे यूट्यूब, फेसबुक, इंस्टाग्राम और मैप्स
कम कीमत वाले हैंडसेट इस्तेमाल करने वाले इंटरनेट यूज़र को बेहतर गूगल अनुभव देने के लिए नया ऐप गूगल गो लॉन्च किया गया है। इस ऐप के जरिए गूगल की सर्विस जैसे सर्च, वॉयस सर्च, जिफ़, यूट्यूब, ट्रांसलेट और मैप्स व सर्च बार जैसी सभी सुविधाएं एक जगह मिलती हैं। Google Go में सर्च ट्रेंड और किसी ख़ास मुद्दे पर वेब पर चल रही टॉप स्टोरी भी दिखेंगी। मंगलवार को  Google for India इवेंट में कंपनी ने नया गूगल गो ऐप लॉन्च किया।

गूगल के वाइस प्रेसिडेंट इंजीनियरिंग के शशिधर ठाकुर ने इवेंट में कहा, ''हमने हजारों भारतीय नागरिकों से फीडबैक लिया ताकि गूगल गो के जरिए नए यूज़र तक इंटरनेट की पहुंच हो सके।''

गूगल की सेवाओं के अलावा, नए गो ऐप के जरिए यूज़र को फेसबुक, क्रिकबज़ और इंस्टाग्राम जैसे ऐप भी मिलेंगे। ऐप में एक बटन है जिससे यूज़र एक टैप पर ही सर्च क्वेरी (पूछताछ) को ट्रांसलेट कर सकते हैं। 5 एमबी से कम साइज़ वाला गूगल गो 40 प्रतिशत कम डेटा की खपत करता है और इसे 1 जीबी रैम से कम वाले डिवाइस के लिए ऑप्टिमाइज़ किया गया है। यह ऐप सभी एड्रॉयड डिवाइस पर आज से डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध है और एंड्रॉयड गो डिवाइस में यह पहले से इंस्टॉल आएगा।

512 एमबी-1 जीबी रैम वाले स्मार्टफोन के लिए, गूगल ने ओरियो गो का ऐलान किया। यह एंड्रॉयड 8.0 ओरियो का एक ऑप्टिमाइज़्ड वर्ज़न है जिसे कम कीमत वाले स्मार्टफोन के लिए बनाया गया है। यह अगले कुछ महीनों में उपलब्ध होगा जबकि अभी एंड्रॉयड 8.1 के जरिए डेवेलेपर के लिए उपलब्ध है। ओरियो गो पर चलने वाले डिवाइस में 15 प्रतिशत तेज स्टार्टअप टाइम होगा। कंपनी ने कहा कि पहले से इंस्टॉल आने वाले ऐप ऑप्टिमाइज़ होने पर 50 प्रतिशत कम स्टोरेज की ख़पत करेंगे। गूगल ने कहा कि एक औसत ओरियो गो डिवाइस में इन ऑप्टिमाइज़ेशन के साथ 1,000 अतिरिक्त तस्वीरें स्टोर की जा सकेंगी।

ओरियो गो में स्टैंडर्ड वर्ज़न में दिए गए सिक्योरिटी फ़ीचर होंगे, इनमें गूगल प्ले प्रोटेक्ट शामिल है। गो एडिशन डिवाइस डिफॉल्ट तौर पर एक्टिव डेटा सेवर फ़ीचर के साथ आएगा। यूज़र कोई भी ऐप डाउनलोड करने में सक्षम होंगे, लेकिन इसमें एक नया सेक्शन है जिसमें ख़ासतौर पर गो एडिशन डिवाइस के लिए ऑप्टिमाइज़ किए गए ऐप शामिल हैं जैसे फेसबुक लाइट और फ्लिपकार्ट शामिल हैं। गूगल ऐप्स को लो-एंड डिवाइस के साथ बेहतर काम करने के इरादे से ऑप्टिमाइज़ किया गया है। और असिस्टेंट, जीमेल, क्रोम, सर्च, मैप्स, यूट्यूब और जीबोर्ड  गो वर्ज़न सभी ओरियो गो डिवाइस में प्रीलोड आएंगे।

गूगल गो और ओरियो गो के अलावा, इवेंट में Files Go ऐप लॉन्च किया गया। यह भी गो एडिशन डिवाइस में प्री-इंस्टॉल होगा। गो एडिशन डिवाइस के लिए इसे कस्टम बिल्ड दिया गया है और यह फोन में स्पेस खाली करने, फाइल ट्रांसफर खोजने और ऑफलाइन फाइल शेयर करने में मदद मिलती है। ऐप, यूज़र को हेवी फाइल डिलीट करने या फिर किसी सोर्स (जैसे व्हाट्सऐप) की फाइल को सिर्फ दो टैप के जरिए डिलीट कर सकता है।

इस इवेंट में जियो फोन के लिए गूगल असिस्टेंट का स्पेशल एडिशन भी लॉन्च किया गया। किसी फ़ीचर फोन के लिए आया एआई-आधारित यह पहला डिजिटल असिस्टेंट है।

संबंधित ख़बरें

 
लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें।